न्यूज़ीलैंड ने बचाई पारी से हार, भारत अब भी मज़बूत

न्यूज़ीलैंड, मैकुलम इमेज कॉपीरइट Reuters

न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ वेलिंगटन टेस्ट में भारत की स्थिति अब भी मजबूत है, लेकिन न्यूज़ीलैंड टीम ने पारी की हार के ख़तरे को ज़रूर टाल दिया है.

तीसरे दिन का खेल ख़त्म होने तक न्यूज़ीलैंड ने पाँच विकेट के नुक़सान पर 252 रन बना लिए हैं.

न्यूज़ीलैंड को सिर्फ़ छह रन की बढ़त मिली हुई है, क्योंकि भारत ने पहली पारी के आधार पर 246 रनों की अहम बढ़त हासिल की थी.

तीसरे दिन के खेल की ख़ासियत कप्तान ब्रैंडन मैकुलम की बल्लेबाज़ी रही, जिन्होंने अपनी टीम को पारी की हार से बचा लिया.

न्यूज़ीलैंड की पारी

मैकुलम ने ब्रैडली जॉन वॉल्टिंग के साथ मिलकर बेहतरीन बल्लेबाज़ी की. दोनों ने अभी तक छठे विकेट के लिए 158 रन जोड़ लिए हैं.

मैकुलम ने तो शानदार शतक पूरा कर लिया है और वे 114 रन बनाकर नाबाद हैं. ये टेस्ट करियर में उनका नौवाँ शतक है.

तीसरे दिन का खेल शुरू होने पर न्यूज़ीलैंड ने अपने स्कोर एक विकेट पर 24 रनों से आगे खेलना शुरू किया.

सबसे पहले केन विलियम्सन आउट हुए, जिन्हें सात रन के निजी स्कोर पर ज़हीर ख़ान ने आउट किया.

रदरफ़ोर्ड को भी 35 रनों के निजी स्कोर पर ज़हीर ख़ान ने पवेलियन भेजा. लैथम 29 रन बनाकर मोहम्मद शामी का शिकार बने, तो कोरी एंडरसन का विकेट रवींद्र जडेजा को मिला.

भारत मजबूत स्थिति में

इमेज कॉपीरइट AP

एक समय न्यूज़ीलैंड का स्कोर था पाँच विकेट के नुक़सान पर 94 रन. लेकिन इसके बाद जो हुआ, उसने भारतीय गेंदबाज़ काफ़ी परेशान रहे.

ब्रैंडन मैकुलम और वॉल्टिंग ने संभल कर खेलना शुरू किया. एक समय न्यूज़ीलैंड पर पारी की हार का ख़तरा मँडरा रहा था.

लेकिन अब वो संकट टल गया है. हालाँकि मैच पर भारत की पकड़ मज़बूत है. लेकिन ये चौथे दिन के खेल और ख़ासकर मैकुलम पर निर्भर करेगा कि न्यूज़ीलैंड की टीम जीत के लिए भारत के सामने कितना बड़ा लक्ष्य रखती है.

न्यूज़ीलैंड की दूसरी पारी में ज़हीर ख़ान ने तीन विकेट लिए हैं. मोहम्मद शामी और रवींद्र जडेजा ने एक-एक विकेट लिया.

न्यूज़ीलैंड की टीम ने पहली पारी में सिर्फ़ 192 रन बनाए थे, जबकि भारत ने 438 रन बनाकर 246 रनों की बढ़त हासिल की.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार