ब्राज़ील और अर्जेंटीना में बदला बांग्लादेश!

बांग्लादेश में लोगों पर फुटबॉल विश्वकप का बुखार इमेज कॉपीरइट AFP

पश्चिमी बांग्लादेश में अधिकारी इन दिनों घरों के ऊपर लहरा रहे ब्राज़ील और अर्जेंटीना के हज़ारों झंडों से परेशान हैं.

समाचार एजेंसी एएफ़पी के अनुसार फुटबॉल विश्व कप के उत्साह में लोगों ने अपने घरों की छत पर ये झंडे लगाए हैं.

मंगलवार को अधिकारियों ने लोगों से यह झंडे हटाने की अपील की है.

बांग्लादेश में आमतौर पर क्रिकेट को पसंद किया जाता है, लेकिन लगता है कि वहां इन दिनों लोगों पर फुटबॉल का बुख़ार चढ़ा हुआ है.

'झंडे का अपमान'

फुटबॉल विश्व कप गुरूवार से ब्राज़ील में शुरू हो रहा है. लेकिन कई बांग्लादेशी शहर और कस्बे ब्राज़ील और अर्जेंटीना के झंडों के रंगों में डूब गए हैं. बांग्लादेश में इन दोनों दक्षिण अमरीकी टीमों के समर्थक बड़ी संख्या में रहते हैं.

कब, कैसे आगे बढ़ी विश्व कप फ़ुटबॉल की कहानी

लेकिन जेसोर के ज़िलाधिकारी मुस्तफिज़ुर रहमान का कहना है, " फुटबॉल विश्व कप की दो टीमों के लिए सार्वजनिक तौर पर इस तरह का समर्थन दर्शाने से बांग्लादेश के झंडे का अपमान होता है."

समाचार एजेंसी एएफपी से उन्होंने कहा, " विश्व कप शुरू होने से पहले हम ब्राज़ील और अर्जेंटीना में बदल गए हैं. लगभग हर घर पर आपको अर्जेंटीना और ब्राज़ील के झंडे देखने को मिलेंगे."

रहमान कहते हैं, "हमें इस बात से कोई एतराज़ नहीं है कि लोग अपनी पसंदीदा टीम की जर्सी पहनें या बिलबोर्ड या बैनर का प्रयोग करें लेकिन यह अच्छा नहीं लगता है कि किसी दूसरे देश का झंडा आपके घर पर लहराए."

अखबारों में अपील

अधिकारियों ने फुटबॉल प्रशंसकों से दूसरे देशों के झंडे उतारने की अपील की गई है. यह अपील अख़बारों के माध्यम से की गई है. रहमान ने बताया कि स्थानीय सरकारी अधिकारी दूर-दराज के गाँवों में जाकर भी ऐसी अपील कर रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption बांग्लादेश में अर्जेंटीना की फुटबॉल टीम के प्रशंसक बड़ी सँख्या में रहते हैं.

हालांकि बांग्लादेशी अपने क्रिकेट प्रेम के लिए जाने जाते हैं लेकिन यहाँ फुटबॉल मैच भी लोग बड़ी संख्या में देखते हैं.

सितंबर 2011 में बांग्लादेश ने लियोनेल मेसी की अगुआई वाली अर्जेंटीना की टीम और नाइजीरिया के बीच एक दोस्ताना मैच की मेज़बानी के लिए 40 लाख डॉलर खर्च कर दिए थे.

बांग्लादेश आज तक कभी भी विश्व कप के लिए क्वॉलिफाई नहीं कर पाया है. बांग्लादेश में ब्राज़ील और अर्जेंटीना के फुटबॉल की दीवानगी 1982 से शुरू हुई थी, जब देश में टीवी पर फुटबॉल के मैच लाइव दिखाए जाने शुरू हुए थे.

2010 में फुटबॉल विश्व कप के दौरान बिजली की कटौती के कारण मैच के प्रसारण में व्यवधान आने की वजह से दंगे हो गए थे और बिजली कटौती न हो, इसके लिए फैक्ट्रियों को बंद रखने के आदेश दिए गए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार