विश्व कप फ़ुटबॉल पर मंडरा रहा हड़ताल का ख़तरा

साओ पाओलो में प्रदर्शनकारियों पर काली मीर्च स्प्रे करती पुलिस इमेज कॉपीरइट AP

ब्राज़ील के साओ पाओलो में विश्व कप फ़ुटबॉल शुरू होने से तीन दिन पहले दंगा निरोधक पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले छोड़े.

घटनास्थल पर मौजूद बीबीसी संवाददाता कैटी वॉटसन ने कहा कि वहाँ जमा क़रीब तीन सौ प्रदर्शनकारी के ऊपर एक हेलिकॉप्टर मंडरा रहा था.

इसके बाद से साओ पाओलो मेट्रो के कर्मचारियों ने वेतन वृद्धि की मांग को लेकर जारी अपनी हड़ताल स्थगित कर दी है.

ब्राज़ील की राष्ट्रपति डिल्मा रूसेफ़ ने कहा है कि विश्व को नुक़सान पहुँचाने के लिए वो हिंसक प्रदर्शनों की इजाज़त नहीं देंगी.

साओ पाओलो में अव्यस्था

हड़ताल की शुरुआत गुरुवार को हुई थी. इससे दुनिया के सबसे अधिक भीड़-भाड़ वाले शहरों में से एक साओ पाओलो में अव्यस्था फैल गई.

मेट्रो कामगारों की यूनियन के एक प्रवक्ता ने बीबीसी से सोमवार को कहा कि उन्होंने समझौता वार्ता के लिए हड़ताल को दो दिन के लिए स्थगित कर दिया है. इससे पैदा हुई परिस्थितियों पर चर्चा करने के लिए कर्मचारी बुधवार को एक बार फिर मिलेंगे.

उन्होंने कहा कि अगर बर्ख़ास्त कर्मचारियों को बहाल नहीं किया गया तो विश्व कप फ़ुटबॉल के उद्घाटन वाले दिन वो एक बार फिर हड़ताल शुरू कर देंगे.

बीबीसी संवाददाता केटी वॉटसन के मुताबिक़ सोमवार को साओ पाओलो के एक मट्रो स्टेशन पर क़रीब तीन सौ प्रदर्शनकारी जमा हुए.

इसके बाद अधिकारियों ने वहां की सड़कों पर दंगा निरोधक पुलिस तैनात कर दी और ऊपर एक हेलिकॉप्टर मंडराने लगा और सुरक्षा बलों ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े.

फ़ुटबॉल प्रशंसक

इमेज कॉपीरइट AP

हड़ताल की अपील करने वाली कर्मचारी यूनियन के अध्यक्ष अलटिनो प्रेज़ेरिस ने कहा कि प्रदर्शनकारियों का इरादा विश्व कप के आयोजन को बर्बाद करना नहीं है.

उन्होंने समाचार एजेंसी एपी से कहा, ''मैं फ़ुटबॉल को प्यार करता हूँ. मैं अपनी राष्ट्रीय टीम का समर्थन करुंगा. हम चाहते है कि आज समस्या का समाधान हो जाए और हम सभी लोग वार्ता करना चाहते हैं.''

मेट्रो का संचालन करने वाली सरकारी कंपनी ने 8.8 फ़ीसद वेतन बढ़ोतरी का प्रस्ताव किया है. लेकिन हड़ताली कर्मचारियों ने इसे नकार दिया है. वो 12.2 फ़ीसद बढ़ोतरी की मांग कर रहे हैं.

रविवार को यूनियन के सदस्यों ने अदालत के काम पर लौटने के आदेश और राज्य के गवर्नर की ओर से बर्ख़ास्तगी की चेतावनी के बावजूद हड़ाताल जारी रखने का फ़ैसला किया था.

मेट्रो का संचालन करने वाली कंपनी के एक प्रवक्ता ने सोमवार को कहा कि हाल के दिनों में हड़ताल से हुई परेशानी में शामिल 60 कर्मचारियों को बर्ख़ास्तगी का नोटिस दिया गया है.

वर्ल्ड कप 12 जून से शुरू होने वाला है और पहला मैच साओ पाओलो के बाहरी इलाक़े में मौजूद इटाक्वेराओ स्टेडियम में मेज़बान देश ब्राज़ील और क्रोएशिया के बीच खेला जाएगा.

ब्राज़ील में ख़राब शासन और वर्ल्ड कप तथा ओलंपिक की तैयारियों में अत्यधिक ख़र्च किए जाने के ख़िलाफ़ एक साल से सड़कों पर प्रदर्शन हो रहा है. वर्ष 2016 में रियो डी जेनेरियो ओलंपिक की मेज़बानी करेगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार