विश्व कप: स्पेन और हॉलैंड में होगी रोमांचक भिड़ंत

  • 13 जून 2014
हॉलैंड Image copyright Getty

विश्व कप फ़ुटबॉल टूर्नामेंट में शुक्रवार को तीन मैच खेले जाएंगे. पहले मुक़ाबले में ग्रुप-ए में मैक्सिको का सामना कैमरून से होगा, दूसरे मुक़ाबले में ग्रुप-बी में शामिल स्पेन का सामना हॉलैंड से और तीसरे मैच में इसी ग्रुप में चिली का सामना ऑस्ट्रेलिया से होगा.

जाने-माने फ़ुटबॉल समीक्षक नोवी कपाड़िया इन मुक़ाबलों में सबसे रोमांचक स्पेन और हॉलैंड के बीच मैच मानते हैं.

गोल्डन बूट जीतने वाले महारथी

नोवी मानते हैं कि ग्रुप-बी इस विश्व कप में अल्टीमेट ग्रुप ऑफ़ डेथ है. विश्व कप के इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है जब 2010 की चैंपियन स्पेन और रनर अप यानी उपविजेता हॉलैंड एक ही ग्रुप में हैं.

इसके अलावा चिली भी दक्षिण अमरीका की एक बेहद शानदार टीम है. उनके कोच अर्जेंटीना के सैंपोओली ने आक्रामक टीम बनाई है.

ऑस्ट्रेलिया भले शक्तिशाली न हो, लेकिन कमज़ोर टीम भी नहीं मानी जाती. किसी भी टीम को टक्कर देने के अलावा किसी भी टीम के आगे बढ़ने में बाधा डाल सकती है.

कठिन दौर

ग्रुप-बी की चारों टीमों को पता है कि जो भी टीम यहां से दूसरे नंबर पर रहेगी, उसका सामना अगले दौर में ग्रुप-ए में टॉप पर रहने वाली टीम से होगा.

ये ग्रुप मेज़बान ब्राज़ील का ग्रुप है और क्रोएशिया पर उनकी जीत के बाद माना जा रहा है कि वही ग्रुप में टॉप पर हो सकती है. 16 टीमों का वह दौर अत्यन्त कठिन होगा. इसलिए ग्रुप-बी के तीनों मैच फाइनल की तरह होंगे.

विश्व कपः उदघाटन से पहले विरोध प्रदर्शन

सभी टीमें तीनों मैच जीतने की कोशिश करेंगी. स्पेन पर निश्चित रूप से विश्व चैंपियन होने के कारण काफ़ी दबाव होगा.

स्पेन और हॉलैंड के मैच से ही इस विश्व कप के भविष्य का भी अंदाज़ा हो जाएगा. अगर स्पेन ने खराब शुरुआत की और वो मैच हार गए तो फिर वो दूसरे नंबर पर रह सकते हैं.

उलटफेर

Image copyright AFP

ऐसे में जो फुटबाल के पंडित सोच रहे हैं कि इस बार का फ़ाइनल स्पेन और ब्राज़ील के बीच होगा, तो वह मैच तो अगले दौर में ही अंतिम सोलह में हो जाएगा. उसमें कुछ भी उलटफेर हो सकता है. यहां तक कि ब्राज़ील भी बाहर हो सकता है. यह मुक़ाबला 28 जून को होगा.

वो आठ खिलाड़ी जिन पर रहेगी सबकी नज़र

पूरे विश्व कप का भविष्य किस तरफ जाएगा? क्या यूरोप की कोई टीम पहली बार दक्षिण अमरीका में विश्व कप जीत पाएगी? यह सब उस दिन पर निर्भर करेगा.

मैक्सिको और चिली में दिलचस्प मुक़ाबला हो सकता है क्योंकि दोनों टीमें जीतकर ग्रुप में दूसरे नंबर पर रहने की कोशिश करेंगी. ऑस्ट्रेलिया और चिली इस विश्व कप में अपनी छाप छोड़ने की कोशिश करेंगे.

ऑस्ट्रेलिया ने एकदम नए चेहरों को मौक़ा दिया है, तो चिली तेज़-तर्रार फ़ुटबॉल के लिए मशहूर है. फ़ुटबॉल मनोरंजक होगी, लेकिन दिल थामकर देखने वाला मैच तो स्पेन और हॉलैंड के बीच ही होगा.

(बीबीसी हिंदी मोबाइल ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमारे फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार