इटली ने इंग्लैंड को 2-1 से धोया

इटली-इंग्लैंड विश्व कप फ़ुटबॉल इमेज कॉपीरइट Getty

विश्व कप फुटबॉल टूर्नामेंट में शनिवार को ग्रुप-डी के मुक़ाबले में इंग्लैंड और इटली आमने-सामने आए. इससे पहले इसी ग्रुप में शामिल कोस्टारिका ने उरुग्वे को 3-1 से हराकर बड़ा उलटफेर किया था.

2006 की चैंपियन इटली ने इंग्लैंड को 2-1 से हराकर अपने अभियान की शुरुआत की. 1966 में एक बार विश्व कप अपने नाम कर चुकी इंग्लैंड और चार बार की चैंपियन इटली ने खेल की शुरुआत संभलकर की.

इटली की टीम कप्तान पिरलो, वेरेटी, डारमियान और रोसी के सहारे मूव बनाने की कोशिश कर रही थी, तो दूसरी तरफ़ इंग्लैंड की रक्षा पंक्ति पूरी मुस्तैदी से इन पर नज़र रख रही थी. इटली के बालोटेली भी इसी बीच दूर से शॉट जमाकर इंग्लैंड के गोलकीपर जॉए हार्ट की परीक्षा ले रहे थे.

दर्शकों को इन दोनों टीमों से ज़बर्दस्त खेल की उम्मीद थी, लेकिन खेल बड़ी सोची-समझी रणनीति के तहत रक्षात्मक खेला जा रहा था. आखिरकार 35वें मिनट में इटली को कॉर्नर मिला, जिसे इटली के केंडरेवा ने चतुराई से पेनल्टी एरिया के बाहर खड़े पेलेटा की तरफ़ सरका दिया और पेलेटा ने इसे मार्हिसियों के लिए छोड़ दिया.

मार्हिसियों ने बॉल को संभाला और एक ज़ोरदार किक से शानदार गोल कर दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया. अभी इटली के समर्थकों को पूरी तरह से झूमने का मौक़ा भी नहीं मिला था कि दो मिनट बाद ही एक काउंटर अटैक पर बाएं छोर से इंग्लैंड के स्टर्लिंग ने बॉल को संभाला और तेज़ी से आगे बढ़ते हुए एक शानदार पास रूनी की तरफ बढ़ाया.

इमेज कॉपीरइट Getty

इटली के हमले

इसके बाद रूनी ने क्रॉस पास स्टुरिजे को दिया, जिसे उन्होंने बेहतरीन दिशा देते हुए गोल बॉक्स में पहुंचाकर स्कोर 1-1 से बराबर कर दिया. मध्यांतर से पहले दो मिनट में दो बेहतरीन गोल देखकर स्टेडियम में मौजूद दर्शकों का पैसा वसूल हो चुका था. आधे समय तक स्कोर 1-1 ही रहा.

मध्यांतर के बाद इटली के हमले इंग्लैंड पर ऐसे शुरू हुए कि उसका तालमेल ही बिगड़ गया. केंडरेवा लगातार बॉल को पैनल्टी एरिया के पास पहुंचाते रहे. ऐसे ही एक शानदार मूव पर केंडरेवा ने खेल के 50वें मिनट में एक क्रॉस बालोटेली को दिया, जिन्होंने उसका भरपूर फ़ायदा उठाते हुए गोल कर इटली को 2-1 से आगे कर दिया.

इमेज कॉपीरइट Getty

अब तक खेल रफ़्तार पकड़ चुका था. इंग्लैंड के जेरार्ड, जॉनसन और रूनी अपनी तरफ़ से गोल करने की पूरी कोशिश कर रहे थे, लेकिन इटली की रक्षा पंक्ति पूरी तरह मुस्तैद थी. इंग्लैंड को 88वें मिनट में कॉर्नर भी मिला, लेकिन उसके रक्षकों ने इसका फ़ायदा इंग्लैंड को नहीं उठाने दिया.

इंग्लैंड के स्टर्लिंग को खेल के अतिरिक्त समय में यैलो कार्ड भी मिला. इसके बाद मिली फ़्री किक पर कप्तान पिरलो ने शानदार किक लगाई, जो गोल बार से टकराते हुए गोल बॉक्स के ऊपर से निकल गई, लेकिन इससे मैच के नतीजे पर कोई असर नहीं पड़ा और इटली ने 2-1 से मैच को अपने नाम करते हुए पूरे तीन अंक अर्जित किए. अब ग्रुप डी में बेहतर गोल अंतर के आधार पर कोस्टारिका पहले और इटली दूसरे स्थान पर है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार