मैक्सिको ने की ब्राज़ील की बोलती बंद

ब्राज़ील बनाम मैक्सिको इमेज कॉपीरइट AFP

मंगलवार को विश्व कप फ़ुटबॉल में मेज़बान ब्राज़ील को तगड़ा झटका लगा और अपेक्षाकृत कमज़ोर मानी जा रही मैक्सिको ने ब्राज़ील को ड्रॉ पर रोक दिया.

अब टूर्नामेंट में बने रहने के लिए ग्रुप ए में ब्राज़ील को अपने आख़िरी मैच में कैमरून को हराना ही होगा.

(मेसी को खरी-खोटी)

ब्राज़ील-मैक्सिको मैच में निर्धारित समय तक दोनों ही टीमें कोई भी गोल नहीं कर पाईं. मैक्सिको की मज़बूत रक्षा पंक्ति ने ब्राज़ील के कई ताबड़तोड़ हमलों को नाकाम कर दिया.

मैक्सिको के गोलकीपर रहे हीरो

इमेज कॉपीरइट Reuters

फोर्टालेज़ा में खेले गए इस मैच में पूरा स्टेडियम ब्राज़ीली प्रशंसकों से खचाखच भरा था लेकिन अपनी टीम के प्रदर्शन ने उन्हें मायूस कर दिया. मैच के बाद ब्राज़ील के कोच स्कोलारी के चेहरे पर भी निराशा साफ देखी जा सकती थी.

सच्चे मायनों में मैच के हीरो रहे मैक्सिको के गोलकीपर गिलेर्मो ओचा जिन्होंने ब्राज़ीली टीम के कई ऐसे हमलों को नाकाम किया जो गोल हो सकते थे.

(रोनाल्डो खाली हाथ)

पहले हाफ़ में गिलेर्मो ने ब्राज़ील के नेमार के जिस हेडर का बचाव किया वो तो एक विश्व स्तरीय बचाव था.

'ब्राज़ील को स्तर उठाना होगा'

इमेज कॉपीरइट Getty

इसके अलावा मैक्सिको की रक्षा पंक्ति ने भी ब्राज़ील के आक्रमण को हर बार विफल किया.

फ़ुटबॉल विशेषज्ञ नोवी कपाड़िया के मुताबिक़ ब्राज़ील की टीम ने मूव तो कई बनाए लेकिन ऐन मौक़ों पर तालमेल की कमी और नर्वस होने की वजह से वो उन्हें गोल में तब्दील ना कर पाए.

नोवी के मुताबिक़ टूर्नामेंट शुरू होने से पहले ब्राज़ील ख़िताब की प्रबल दावेदार थी लेकिन पहले क्रोएशिया और अब मैक्सिको के ख़िलाफ़ उन्होंने जिस तरह का खेल दिखाया उसके बाद उन्हें अपने स्तर को ख़ासा उठाना पड़ेगा. वर्ना उनके लिए बुरी ख़बर इंतज़ार कर रही है.

बेल्जियम बनाम अल्जीरिया

इमेज कॉपीरइट Reuters

इसके अलावा मंगलवार को खेले गए ग्रुप एच के एक मैच में बेल्जियम ने अल्जीरिया को 2-1 से हरा दिया.

पहले हाफ़ में 0-1 से पीछे रहने के बाद 70वें मिनट में फेलिनी और 80वें मिनट में मेंर्टंस के गोलों की वजह से अपने ग्रुप एच के अपने पहले मैच में 2-1 से जीत दर्ज कर ली.

अल्जीरिया के सोफ़ियन फ़गूली ने 24 वें मिनट में मिले पेनल्टी किक को गोल में बदलते हुए 1-0 की लीड लेकर सबको चौंका दिया. ये 1986 के बाद से अल्जीरिया का किसी भी विश्व कप में पहला गोल था.

विश्व कप क्वालीफ़ाइंग राऊंड में ज़बरदस्त प्रदर्शन करने वाली बेल्जियम के खेमे में इस गोल से हलचल मच गई.

लेकिन दूसरे हाफ़ में बेल्जियम ने दिखाया कि आख़िर क्यों उसे इस विश्व कप की दावेदार टीमों में से एक माना जा रहा है. अपने खेल को इस हाफ में कई गुना बेहतर करते हुए बेल्जियम ने लगातार हमले किए और आख़िरकार अपनी प्रतिष्ठा के अनुरूप प्रदर्शन करते हुए 2-1 से जीत हासिल कर ली.

ग्रुप एच के एक मैच में रूस और दक्षिण कोरिया के बीच मैच 1-1 से बराबर रहा. दक्षिण कोरिया ने 68वें मिनट में गोल करके 1-0 की बढ़त बना ली. लेकिन छह मिनट बाद ही रूस ने बराबरी का गोल कर दिया.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार