जिसने किया शर्मसार, ब्राज़ील उसी के साथ ?

  • 11 जुलाई 2014
ब्राजील और जर्मनी समर्थक Image copyright Getty

फ़ुटबॉल विश्व कप के सेमीफ़ाइनल में जर्मनी के हाथों बुरी तरह हारने के बावजूद ब्राज़ील के अधिकतर लोग रविवार को होने वाले फ़ाइनल में अर्जेंटीना के बजाए जर्मनी का समर्थन कर सकते हैं.

अगर ऐसा हुआ तो ये ब्राज़ील और अर्जेंटीना के बीच ऐतिहासिक प्रतिद्वंद्विता की जीत होगी.

विश्व कप के दौरान दोनों टीमों के बीच कोई मुकाबला नहीं हुआ है लेकिन ब्राज़ील में स्टेडियम के अंदर और सड़कों पर आसानी से इस प्रतिद्वंद्विता को देखा जा सकता है.

नहीं जीत सकता अर्जेंटीना

अर्जेंटीना के मैचों के दौरान ब्राज़ील के फ़ुटबॉल प्रेमी विपक्षी टीम की टीशर्ट पहन कर स्टेडियम के अंदर चले जाते है और अर्जेंटीना से खेलने वाली टीम की हौसला अफ़जाई करते हैं.

इससे अंर्जेंटीना के प्रशंसक काफ़ी नाराज़ हैं. अर्जेंटीना के समर्थक स्टेडियम के अंदर और बाहर हर जगह ब्राज़ील की शर्मनाक हार का मज़ाक उड़ा रहे हैं.

Image copyright AFP

इससे ब्राज़ील के लोग काफ़ी नाराज़ हो गए है. एक मौक़े पर तो पुलिस को दखल तक देना पड़ा है.

रियो डी जनेरियो के मेयर एडुआर्डो पेस ने पिछले साल एक साक्षात्कार में मज़ाक में कहा था कि अगर अर्जेंटीना वर्ल्ड कप के फ़ाइनल में ब्राज़ील से जीतता है तो वह ख़ुद को मार लेंगे.

लेकिन शुक्र है ऐसा नहीं होने जा रहा है.

कौन है महान खिलाड़ी?

Image copyright Reuters

साओ पाउलो के 27 वर्षीय गैब्रियल टेड्डे ने कहा, " अगर अर्जेंटीना फ़ाइनल जीतता है तो मैं फ़ुटबॉल देखना छोड़ दूंगा. वे बिल्कुल नहीं जीत सकते. "

ब्राज़ील के एक समर्थक लुई अमोरिम ने एक ब्राज़ीली अखबार से कहा, "मैं किसी का भी साथ दे सकता हूँ लेकिन अर्जेंटीना का नहीं. मैं पेले हूँ, माराडोना नहीं."

Image copyright Reuters

दोनों देशों के बीच महान खिलाड़ी को लेकर भी हमेशा विवाद रहा है और ये एक कभी नहीं ख़त्म होने वाला विवाद है.

एक ओर जहां अर्जेंटीना के प्रशंसक माराडोना को सर्वकालिक महान खिलाड़ी मानते हैं तो वहीं ब्राज़ील के फ़ुटबॉल प्रेमी पेले को.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार