एंडरसन पर गाली देने का आरोप

इमेज कॉपीरइट AP

भारतीय खिलाड़ी रवींद्र जडेजा से कथित झगड़े को लेकर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने इंग्लैंड के तेज़ गेंदबाज़ जेम्स एंडरसन पर आरोप तय कर दिए हैं.

यह कथित झगड़ा नॉटिंघम के ट्रेंट ब्रिज में ड्रॉ हुए पहले टेस्ट के दौरान हुआ था.

आईसीसी ने एंडरसन पर जडेजा को कथित तौर पर 'गाली देने और धक्का देने' का आरोप तय किया है. घटना तब हुई जब भारत की बल्लेबाज़ी के दौरान गुरुवार को दोनों खिलाड़ी लंच के लिए मैदान से निकले थे.

आईसीसी ने अपने बयान में कहा है कि नियमानुसार एंडरसन पर 'लेवेल थ्री' के आरोप लगाए गए हैं.

इसके तहत खिलाड़ी पर दो से चार टेस्ट या चार से आठ अंतरराष्ट्रीय वन डे मैच खेलने पर पाबंदी लगाई जा सकती है.

हालांकि एंडरसन लॉर्ड्स में होने वाले दूसरे या साउथेंपटन में होने वाले तीसरे टेस्ट में खेल सकें क्योंकि इस मामले में कोई भी सुनवाई इससे पहले शायद ही हो.

ईसीबी का कड़ा रुख

इमेज कॉपीरइट AFP

आईसीसी ने कहा है कि मामले की सुनवाई 'जल्द किसी सही समय' पर होगी.

उधर, जेम्स एंडरसन पर आईसीसी के बयान से पहले ही इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने अपना बयान जारी कर दिया था.

ईसीबी ने ज़ोर दिया कि यह घटना 'मामूली' थी और एंडरसन को उनका पूर्ण समर्थन हासिल है.

बोर्ड की ओर से कहा गया है, "जेम्स एंडरसन ने अपने ऊपर लगे आरोपों से साफ़ इनकार किया है. अगर आईसीसी उनके ख़िलाफ़ कार्रवाई करती है तो ईसीबी उन्हें अपना पूर्ण समर्थन देगी."

ईसीबी ने यह भी कहा कि अगर आईसीसी एंडरसन के ख़िलाफ़ मामला बढ़ाती है, तो वे भी जडेजा के ख़िलाफ़ आरोप दाखिल करेंगे.

"..ईसीबी ने जडेजा के ख़िलाफ़ नियम तोड़ने का आरोप लगाने के इरादे आईसीसी से ज़ाहिर कर दिए हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार