टेस्ट के दूसरे दिन भारत का पलड़ा भारी

इमेज कॉपीरइट PA

लॉर्ड्स में भारत और इंग्लैंड के बीच चल रहे दूसरे टेस्ट के दूसरे दिन भारत के 295 रनों के जवाब में इंग्लैंड 6 विकेट पर 219 रन ही बना सका.

इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाज़ी करने का फ़ैसला किया.

इंग्लैंड के बल्लेबाज़ गैरी बैलांस ने लॉर्ड्स में अपना दूसरा शतक पूरा तो किया पर बाद में मिले दो विकेटों की वजह से भारत दूसरे टेस्ट में बढ़त बनाने में कामयाब रहा.

बैलांस ने मोइन अली के साथ साझेदारी में 110 रन जोड़े ताकि इंग्लैंड को चार विकेट पर 113 रनों के झटके से उबारा जा सके. कप्तान एलेस्टेयर कुक सिर्फ़ 10 रन ही बटोर पाए थे.

मगर जब आख़िरी आधे घंटे में मोइन और बैलांस के विकेट गिरे तो भारत का पलड़ा एक बार फिर भारी हो गया.

भारतीय गेंदबाज़ों की तरफ़ से भुवनेश्वर कुमार सबसे ख़तरनाक साबित हुए जिन्होंने 46 रनों के नुक़सान पर चार विकेट लिए.

नए बल्लेबाज़ों पर भरोसा

इमेज कॉपीरइट AFP

उन्हें भारत के दूसरे तेज़ गेंदबाज़ों से भी काफ़ी मदद मिली जबकि स्पिनर रविंद्र जडेजा और मुरली विजय का पूरा ध्यान विकेट पर बना रहा.

बैलांस ने खेल में काफ़ी परिपक्वता दिखाई और भारत के हमले नाकाम कर इंग्लैंड को ख़तरे से उबारने में काफ़ी अहम योगदान दिया.

यह पहली बार नहीं है कि इंग्लैंड ने अपने ज़्यादा स्थापित बल्लेबाज़ों की नाकामी से निपटने के लिए नए और तेज़ बल्लेबाज़ों पर भरोसा किया है.

पांच टेस्ट मैचों की सिरीज़ का ट्रेंट ब्रिज में खेला गया पहला टेस्ट ड्रॉ रहा था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार