दुनिया पर राज करना चाहती हैं अपूर्वी

  • 29 जुलाई 2014
भारतीय निशानेबाज़ अपूर्वी चंदेला

भारतीय निशानेबाज़ अपूर्वी चंदेला ने ग्लासगो में चल रहे राष्ट्रमंडल खेलों में महिलाओं के 10 मीटर एयर राइफ़ल वर्ग में स्वर्ण पदक जीता.

बीबीसी से ख़ास बातचीत में अपूर्वी ने मेडल जीतने पर ख़ुशी ज़ाहिर की और कहा कि उनकी अगली मंज़िल विश्व चैंपियनशिप जीतना और ओलंपिक कोटा पाना है.

अपूर्वी चंदेला से बात की विजय राणा ने.

जब कॉमनवेल्थ गेम्स के क्वालिफ़ाइंग राउंड में आपने गेम्स रिकॉर्ड बनाया, तो एहसास था कि एक नया रिकॉर्ड बन रहा है?

उस वक्त मेरे दिमाग़ में कुछ नहीं था क्योंकि मेरा पूरा ध्यान मेरी तकनीक पर था. मेरा बस यही मक़सद था कि अपना सामान्य गेम खेलूं. बाद में जब मैंने स्क्रीन पर देखा, तो बहुत ख़ुशी हुई.

जब गोल्ड मेडल मिला, तब कैसा लगा?

उस वक्त तो मुझे महसूस नहीं हुआ लेकिन थोड़ी देर बाद जब मुझे इसका एहसास हुआ, तो बहुत ज़्यादा ख़ुशी हुई. मैं चाहती थी कि मेरे करियर में एक कॉमनवेल्थ मेडल शामिल हो और ये तो गोल्ड मेडल है, इसलिए मैं बहुत ख़ुश हूं.

अपूर्वी चंदेला ने ग्लासगो राष्ट्रमंडल खेलों में 10 मीटर एयर राइफ़ल वर्ग में गोल्ड मेडल जीता है.

भारत से क्या सपना लेकर चली थीं?

भारत से पक्का इरादा करके चली थी कि यहां मुझे अच्छा प्रदर्शन करना ही है क्योंकि बात सिर्फ़ मेरी नहीं बल्कि पूरे भारत की है. मैं चाहती थी कि मैं भी देश का नाम ऊंचा करूं. तो उसी पर ध्यान रखा. मेरा यही मक़सद था कि पहले क्वालिफ़िकेशन राउंड अच्छे से खेल लूं, फिर फ़ाइनल को देखूंगी और फिर मेडल.

एक निशानेबाज़ के लिए फ़ोकस और पक्का इरादा कितना महत्व रखते हैं?

बहुत ज़्यादा....नर्वस तो सभी एथलीट होते हैं लेकिन प्रतियोगिता के समय संयमित रहना और फ़ोकस करना बहुत ज़रूरी होता है. थोड़ा सा भी ध्यान इधर-उधर होने से शॉट कहीं का कहीं चला जाता है. निशानेबाज़ी में स्कोरिंग दशमलव में होती है इसलिए फ़ोकस बहुत अहम है.

अगली मंज़िल क्या है?

सितंबर में मैं विश्व चैंपियनशिप में हिस्सा ले रही हूं. उसके बाद फिर एशियन गेम्स हैं. विश्व चैंपियनशिप से ओलंपिक कोटा तय होता है इसलिए फिर से प्रैक्टिस में जुट जाऊँगी. उम्मीद करती हूं कि मैं विश्व चैंपियन बनूं और ओलंपिक कोटा मिल सके.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार