नाइजीरियाई भारोत्तोलक ड्रग टेस्ट में फेल

चिका अमालाहा इमेज कॉपीरइट AP

नाइजीरिया की 16 साल की भारोत्तोलक चिका अमालाहा को प्रतिबंधित दवाओं के टेस्ट में फेल होने के बाद राष्ट्रमंडल खेलों से अस्थाई रूप से निलंबित कर दिया गया है.

अगर उनका अगला सैंपल भी पॉज़िटिव पाया गया तो उनका पदक छीना जा सकता है.

यदि ऐसा होता है तो भारत की संतोषी मात्सा का काँस्य पदक बढ़कर रजत हो जाएगा और चौथे स्थान पर रही स्वाति सिंह को काँस्य पदक मिल जाएगा.

रजत पदक पाने वाली पापुआ न्यू गिनी की डिका तूआ का रजत पदक इन हालात में स्वर्ण कर दिया जाएगा.

अमालाहा ने ग्लासगो में पिछले हफ़्ते 53 किलो वर्ग में कुल 196 किलो वज़न उठाकर नाइजारिया के लिए पहला स्वर्ण पदक जीता था.

इस तरह उन्होंने राष्ट्रमंडल खेलों का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया था.

लेकिन जीत के बाद किए गए डोपिंग टेस्ट के 'ए' सैंपल में उनमें प्रतिबंधित डाइयुरेटिक और मास्किंग एजेंट्स के संकेत मिले हैं.

उनका 'बी' सैंपल बुधवार को टेस्ट किया जाएगा.

अमालाहा इन खेलों में ड्रग टेस्ट में पॉज़िटिव पाई जाने वाली पहली खिलाड़ी हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार