सिंधू सेमीफ़ाइनल में मारिन से हारीं

पीवी सिंधू इमेज कॉपीरइट EPA

डेनमार्क में जारी विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप में भारत की पीवी सिंधू शनिवार को खेले गए सेमीफाइनल में स्पेन की कैरोलिना मारिन से हारकर बाहर हो गईं.

इसके साथ ही उन्हें कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा.

सिंधू की हार के साथ ही विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप में भारत की चुनौती भी समाप्त हो गई.

सिंधू ने पिछली विश्व चैंपियनशिप में भी कांस्य पदक जीता था.

इस चैंपियनशिप में 11वीं वरीयता के साथ खेल रही सिंधू को नौवीं वरीयता हासिल कैलोलिना मारिन ने सेमीफाइनल में सीधे गेमों में 21-17, 21-15 से मात दी.

इससे पहले सिंधू ने क्वार्टर-फाइनल में अपने से कहीं ऊंची रैंकिंग की खिलाड़ी दूसरी वरीयता हासिल चीन की वैंग शिझियान को 19-21, 21-19, 21-15 से हराया था.

साइना नेहवाल भी बाहर हुईं

इमेज कॉपीरइट AP

चैंपियनशिप में पीवी सिंधू के अलावा भारत की उम्मीदें स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल पर टिकी थीं.

लेकिन साइना क्वार्टर फाइनल में चीन की शीर्ष वरीयता हासिल खिलाड़ी ज्यूरूई ली के हाथों संघर्षपूर्ण मुक़ाबले में 14-21, 21-18, 21-12 से हारकर बाहर हुई.

इससे पहले साइना ने फिटनेस बेहतर करने के लिए ग्लासगो राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा नहीं लिया था.

लेकिन लगता हैं कि साइना नेहवाल अभी भी पूरी तरह फिट नही हो सकी हैं, जबकि पीवी सिंधू ने राष्ट्रमंडल खेलों में भी कांस्य पदक जीता था.

पी कश्यप का निराशाजनक प्रदर्शन

इमेज कॉपीरइट A

साइना नेहवाल और पीवी सिंधू के अलावा भारत को पुरूष एकल वर्ग में पी कश्यप से भी बेहद उम्मीदें थीं.

लेकिन वह इस चैंपियनशिप में पहले ही दौर में हारकर बाहर हो गए.

उन्हें जर्मनी के दिएतेर दोमके ने 24-26, 21-13, 18-21 से मात दी थी.

पी कश्यप ने इससे पहले ग्लासगो राष्ट्रमंडल खेलों में शानदार प्रदर्शन करते हुए स्वर्ण पदक जीता था.

इसलिए उनका पहले ही दौर में बाहर होना आश्चर्यजनक रहा.

इनके अलावा महिला युगल में भारत की जानीमानी जोड़ी ज्वाला गुट्टा और अश्विनी पोनप्पा की जोड़ी भी इस बार कोई कमाल नही दिखा सकी.

सेमीफाइनल में हार के बावजूद पीवी सिंधू विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप में दो बार कांस्य पदक जीतने वाली भारत की पहली बैडमिंटन खिलाड़ी बन गई हैं.

अब उनकी नज़र अगले महीने कोरिया में होने वाले एशियाई खेलों पर है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार