जीत के साथ इंग्लैंड दौरे का अंत करेगा भारत?

भारतीय क्रिकेट टीम इमेज कॉपीरइट AFP

भारत और इंग्लैंड के बीच रविवार को बर्मिंघम में एकमात्र ट्वेंटी-ट्वेंटी क्रिकेट मैच खेला जाएगा.

इससे पहले भारत ने शुक्रवार को समाप्त हुई पांच एकदिवसीय अंतराष्ट्रीय क्रिकेट मैचों की सिरीज़ में इंग्लैंड को 3-1 से मात दी थी.

(पढ़ेंः सट्टेबाज़ी की जाँच)

इंग्लैंड की टीम ने टेस्ट सिरीज़ में शानदार प्रदर्शन करते हुए भारत को 3-1 से मात दी.

इसके बाद सभी को उम्मीद थी कि इंग्लैंड एकदिवसीय सिरीज़ में भी भारत पर भारी पडेगा, लेकिन हुआ इसका उलटा.

भारतीय टीम इंग्लैंड को बुरी तरह हराने में कामयाब रही. अगर आख़िरी एकदिवसीय मैच को छोड़ दिया जाए तो इंग्लैंड की टीम भारत के ख़िलाफ़ मुक़ाबले में कही नहीं थी.

आत्मविश्वास

इमेज कॉपीरइट AFP

पांच टेस्ट मैच और उसके बाद पांच एकदिवसीय मैचों की सिरीज़ के बाद केवल एक ट्वेंटी-ट्वेंटी मैच के आयोजन को दाल में तड़का ही कहा जा सकता है.

इंग्लैंड ने आख़िरी एकदिवसीय मैच में भारत को 41 रन से हराकर अपना खोया मनोबल और आत्मविश्वास कुछ हद तक वापस पाया.

ट्वेंटी-ट्वेंटी मुक़ाबले में इंग्लैंड की कमान इयान मोर्गन संभालेंगे. अब यह बात अलग है कि मोर्गन का बल्ला बीती एकदिवसीय सिरीज़ में ख़ामोश ही रहा था.

दूसरी तरफ सुरेश रैना, अजिंक्य रहाणे, अंबाती रायडू और कुछ हद तक शिखर धवन एकदिवसीय सिरीज़ में चमककर सामने आए.

करिश्मा करेंगे!

इमेज कॉपीरइट Reuters

वैसे इंग्लैंड की टीम में कुछ बदलाव को छोड़ दिया जाए तो अधिकतर खिलाड़ी वही हैं जो एकदिवसीय सिरीज़ में खेले थे.

इंग्लैंड की टीम में रवि बोपारा रविवार का मैच खेल सकते हैं. अब यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या विराट कोहली ट्वेंटी-ट्वेंटी मुक़ाबले में कुछ करिश्मा करेंगे.

इमेज कॉपीरइट Reuters

भारत के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी अंतिम एकादश में चाहे तो करण शर्मा और संजू सैमसन को मौक़ा दे सकते हैं, क्योंकि अब यही दो खिलाड़ी ऐसे बचे हैं जिन्हे इंग्लैंड में मौक़े का इंतज़ार हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार