हॉकी में जीता भारत ने गोल्ड मेडल

इमेज कॉपीरइट AP

एशियाई खेलों में पाकिस्तान को हराकर गोल्ड मेडल जीतने वाली भारतीय हॉकी टीम के कप्तान सरदार सिंह ने बीबीसी को बताया है कि इस जीत से ज़्यादा संतुष्ट न होते हुए टीम को रियो ओलंपिक की तैयारी में जुटना होगा.

सरदार सिंह ने कहा, " हमें ज़्यादा संतुष्ट नहीं होना चाहिए. हम रियो के लिए क्वालिफ़ाई कर गए हैं. अब हमारे पास तैयारी करने के लिए दो साल हैं. जो इस टूर्नामेंट में जो ग़लतियां की हैं, उन्हें सुधारना होगा. "

पेनल्टी शूट आउट में 4-2 से मिली जीत के बाद कप्तान सरदार सिंह ने कहा कि टीम गोल स्कोर करने के कुछ अवसरों का लाभ नहीं उठा पाई क्योंकि शायद बड़े मैचों में खिलाड़ियों पर ख़ूब दबाव होता है.

कप्तान ने भारत की जीत के हीरो रहे टीम के गोलकीपर श्रीजेश रविंद्रन की ख़ूब तारीफ़ की.

उन्होंने कहा, "श्रीजेश दुनिया के बेहतरीन गोलकीपर है. हमने पेनल्टी शूट आउट का अभ्यास किया था. पाकिस्तानी गोलकीपर के खेल के वीडियो भी देखे थे."

16 साल बाद सोने का तमग़ा

भारत ने एशियाई खेलों में गोल्ड मेडल जीता है. भारत ने फ़ाइनल में पाकिस्तान को पेनल्टी शूट आउट में हराया. इसी के साथ भारत रियो ओलंपिक खेलों के लिए भी क्वालीफ़ाई कर गया है.

भारतीय जीत के हीरो रहे गोलकीपर श्रीजेश रविंद्रन.

भारत ने पिछली बार 1998 में एशियाई खेलों में गोल्ड मेडल जीता था.

पेनल्टी शूट आउट में भारत ने पाकिस्तान को चार के मुकाबले दो गोल से हराया है.

निर्धारित समय में एक-एक की बराबरी पर छूटने के बाद एशियाई खेलों में भारत और पाकिस्तान के बीच हॉकी के फ़ाइनल मैच का मुकाबला पेनल्टी शूट आउट के ज़रिए हुआ.

इमेज कॉपीरइट AP

फ़ाइनल की शुरूआत में ही पाकिस्तान के रिज़वान मोहम्मद ने गोल दागकर अपनी टीम को बढ़त दिलाई.

लेकिन दूसरे क्वार्टर में भारत ने गोल दाग़ कर बराबरी कर ली. निर्धारित समय में दोनों टीमें एक-एक की बराबरी पर रही.

इमेज कॉपीरइट AP

इससे पहले दोनों टीमें हॉकी के फ़ाइनल में दिल्ली में हुए एशियाई खेलों में आमने-सामने हुई थीं. वो मैच भारतीय हॉकी के प्रशंसकों का दिल तोड़ गया था.

दिल्ली के शिवाजी स्टेडियम में पाकिस्तान ने भारत को सात के मुकाबले एक गोल से करारी मात दी थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार