'इंडियन सुपर लीग से बढ़ेगी फ़ुटबॉल'

माइकेल ओवन (बाएं) और पीटर रीड (दाहिने) इमेज कॉपीरइट PA
Image caption पीटर रीड (दाएं) का कहना है कि भारतीय फ़ुटबॉलर अच्छे प्रोफ़ेशनल हैं.

संदरलैंड और मैनचेस्टर सिटी के पूर्व मैनेजर पीटर रीड का कहना है कि इंडियन सुपर लीग यानी आईएसएल भारत में फ़ुटबॉल के लिए नई सुबह साबित हो सकती है.

रीड आईएसएल की मुंबई टीम के मैनेजर हैं. आईएसएल का पहला मुक़ाबला रविवार को एथलीटो डी कोलकाता और मुंबई के बीच खेला जाएगा.

लीग को लेकर प्रचार बहुत है, पर इस मैच की 68,000 टिकटों में से सिर्फ़ 20,000 टिकटों की ही बिक्री हुई है.

फ़ुटबॉल की तरक़्की

इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption भारत का विश्व फ़ुटबॉल में 158वां स्थान है

रीड ने बीबीसी स्पोर्ट से कहा, " भारत में फ़ुटबॉल है और मुझे एक चीज़ पता है कि यह आगे बढ़ेगी."

रीड के साथ लीग में अलसांद्रो डेल पियरो, फ़्रेडी जंगबर्ग, रॉबर्ट पायर्स और डेविड जेम्स जैसे स्टार खिलाड़ी हिस्सा लेने वाले हैं.

निकोलस एनेलका, मार्को मैटेराज़ी और माइकल चोपड़ा भी लीग से जुड़े हैं, जबकि ब्राज़ील के ज़ीको गोवा फुटबॉल टीम के कोच हैं.

आईएसएल के मुक़ाबले दस हफ़्ते चलेंगे, जिसमें फ़ुटबॉल की आठ टीमें क्रिकेट के दबदबे वाले देश में इस खेल को लोकप्रिय बनाने की कोशिश करेंगी.

आईएसएल के आयोजकों का सपना भारत को 'फ़ुटबॉल पॉवर' बनने में मदद करना और 2026 के विश्वकप में भारत को क्वालीफ़ाई कराना है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार