रोहित: महाकाव्य...बर्बर बल्लेबाज़ी..

रोहित शर्मा इमेज कॉपीरइट AP

भारतीय बल्लेबाज़ रोहित शर्मा की एक दिवसीय मैचों में रिकॉर्ड 264 रन की पारी को दुनिया भर के अख़बार आश्चर्य के साथ देख रहे हैं. उन्हें इस पारी पर विश्वास नहीं हो रहा है.

रोहित शर्मा ने 264 रन बनाकर 2011 में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ वीरेंद्र सहवाग के 219 रनों के एक वनडे पारी में सर्वाधिक रनों के रिकॉर्ड को तोड़ दिया.

श्रीलंका के ख़िलाफ़ कोलकाता में चौथे वनडे में 264 के साथ ही रोहित वनडे में दो बार दोहरा शतक बनाने वाले पहले खिलाड़ी दुनिया के एकमात्र बल्लेबाज़ बन गए.

इमेज कॉपीरइट AP

दाएं हाथ के इस बल्लेबाज़ ने 173 गेंदों की पारी में नौ छक्के और 33 चौके लगाए. यह मैच भारत ने 153 रन से जीता.

मंत्रमुग्ध

अंग्रेज़ी के अख़बार डीएनए की हेडिंग हैं, ''रोहित शर्मा डीफ़ीट्स श्रीलंका बाई 13 रन्स (रोहित शर्मा ने श्री लंका को 13 रन से हराया).''

श्रीलंका की पूरी टीम शर्मा के व्यक्तिगत स्कोर से भी 13 रन कम बनाकर आउट हो गई.

अख़बार कहता है, "इस मुंबईकर ने जब अपनी पारी के पहले 50 रन बना लिए और जम गए तो अपनी पारी को बड़ी ही कुशलता से आगे बढ़ाया और श्रीलंकाई आक्रमण की बखिया उधेड़ दीं."

इमेज कॉपीरइट BCCI

हिंदुस्तान टाइम्स लिखता है, "शर्मा ने वीरेंद्र सहवाग के 219 रन के सर्वोच्च स्कोर को बेहतर किया और एकदिवसीय मैचों में बल्लेबाज़ी को फिर से परिभाषित किया. उन्होंने दिखाया कि विपक्ष की ख़बर लेनी हो तो वह इस काम के लिए सबसे उपयुक्त हैं."

क्रिकेट खेलेने वाले देशों के अख़बारों में भी रोहित शर्मा की पारी ने सुर्खियां बटोरी हैं.

ऑस्ट्रेलिया का 'फ़ॉक्स स्पोर्ट्स' नुवान कुलशेखरा की गेंद पर लगाए गए शर्मा के छक्के से मंत्रमुग्ध नज़र आता है.

अख़बार कहता है, "जब एक बल्लेबाज़ एक ही पारी में गेंद को बाउंड्री के अंदर या ऊपर से 42 बार पहुंचाता है, तो आप समझ सकते हैं कि ऐसे में किसी का स्टैंड में खड़े होने से ख़ुद को रोक पाना कितना कठिन होगा."

इमेज कॉपीरइट BCCI

अख़बार के मुताबिक, "तीनों स्टंप्स से बाहर खड़े होकर शर्मा ने एक बड़ा क़दम उठाया. इस पर कुलशेखरा ने उन्हें नीची गेंद फेंकी. अगर शर्मा उसे छोड़ देते तो संभवत: गेंद वाइड करार दे दी जाती. लेकिन यह बल्लेबाज़ उस गेंद को छोड़ने के मूड में नहीं था. उसने अपनी कलाई का उपयोग कर लांग ऑन में उस गेंद को फ़्लिक कर बड़े छक्के में बदल दिया."

'अविश्वसनीय बैटिंग'

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने शर्मा की पारी को अविश्वसनीय बताया और श्रीलंका की टीम को मिली बड़ी हार के बाद भी वहां के अख़बारों ने इस बल्लेबाज़ की तारीफ़ की है.

डेली मिरर ने लिखा है, ''श्रीलंका रोहित शर्मा के महाकाव्य 264 से भी कम पर आउट हो गया.''

इमेज कॉपीरइट BCCI

अख़बार लिखता है, "प्रभावशाली शर्मा के खिलाफ श्रीलंकाई बेबस हुआ, चौथे ओवर में एक जीवनदान मिलने के बाद उन्होंने भारतीय पारी पर अपना नियंत्रण हासिल कर लिया."

पाकिस्तान के अख़बारों का कहना है कि शर्मा ने एकदिवसीय मैचों की सबसे बेहतरीन पारी खेली.

पाकिस्तान टुडे की सुर्खी है, "रोहित 264, श्रीलंका 251 यह कहने के लिए पर्याप्त है."

अख़बार लिखता है, ''पारी के ख़त्म होते होते ही उनकी बैटिंग अतिश्योक्ति सी हो गई. कोई भी ऐसा शॉट नहीं था, जिसे उन्होंने नहीं खेला. मैदान का कोई भी हिस्सा ऐसा नहीं था जिसका उन्होंने उपयोग नहीं किया. उनकी बर्बरता से कोई गेंदबाज़ बच नहीं पाया.''

ब्रितानी अख़बारों ने भी इस रोमांचक पारी पर टिप्पणी की है.

इमेज कॉपीरइट BCCI

द गार्डियन में लिज़ि अमान ने लिखा है, "शर्मा ने पारी की अविश्वसनीय शुरुआत की और जब उनका स्कोर चार रन था तो उनका कैच छूट गया."

उन्होंने लिखा है, "20वें ओवर तक उनके स्ट्रोक बर्बरता से अधिक कुछ नहीं रह गए. उन्होंने चारों तरफ़ बल्लेबाज़ी की"

द टेलीग्राफ़ में बेन ब्लूम ने लिखा है, "इस भारतीय बल्लेबाज़ ने जिस तेज़ी से पारी को आगे बढ़ाया, वह उल्लेखनीय था, उन्होंने 94 गेंदों में ही स्कोर को 51 रन से 250 रन पर पहुंचा दिया. उन्होंने अपनी पारी के पहले 50 रन बनाने के लिए 72 गेंदों का सामना किया."

(बीबीसी मॉनिटरिंग दुनिया भर के टीवी, रेडियो, वेब और प्रिंट माध्यमों में प्रकाशित होने वाली ख़बरों पर रिपोर्टिंग और विश्लेषण करता है. आप बीबीसी मॉनिटरिंग की खबरें ट्विटर और फ़ेसबुक पर भी पढ़ सकते हैं. बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार