क्लार्क के न खेलने से भारत को फ़ायदा?

विराट कोहली इमेज कॉपीरइट AFP

इन दिनों भारतीय क्रिकेट टीम ऑस्ट्रेलिया में है जहां उसे चार टेस्ट मैचों की सिरीज़ खेलनी है.

टेस्ट सिरीज़ शुरू होने से पहले भारतीय क्रिकेट टीम को एडीलेड में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया इलेवन के ख़िलाफ दो दिवसीय अभ्यास मैच खेलने का अवसर मिला.

इस अभ्यास मैच में पहले तो भारत के गेंदबाज़ों ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया इलेवन की टीम को पहली पारी में 219 रन पर समेट दिया.

तेज़ गेदबाज़ वरुण ऐरॉन ने 18 ओवर में 80 रन देकर तीन विकेट लिए. इसके साथ ही उन्होंने अपनी फिटनेस को भी साबित कर दिया.

इससे पहले जब उन्हें श्रीलंका के ख़िलाफ एकदिवसीय सिरीज़ में खेलने का अवसर मिला था तो वह केवल चार ओवर की गेंदबाज़ी के बाद ही चोटग्रस्त हो गए थे.

अभ्यास मैच

इमेज कॉपीरइट Reuters

उनके अलावा इन दिनों भारतीय तेज़ गेंदबाज़ी की नई पहचान बन चुके भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी ने भी 2-2 विकेट झटके.

इससे भी अधिक महत्वपूर्ण था उनका लम्बे गेंदबाज़ी स्पेल करना. इसके बाद भारतीय बल्लेबाज़ो ने भी जमकर बैटिंग की और आठ विकेट खोकर 363 रन बनाए.

मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा, कप्तान विराट कोहली, विकेट कीपर बल्लेबाज़ वृद्धिमान साहा और करण शर्मा अर्द्धशतक बनाने में कामयाब रहे.

अगर यह सभी बल्लेबाज़ शुक्रवार से शुरू होने जा रहे दूसरे दो दिवसीय अभ्यास मैच में भी इस तरह खेले तो इन्हें आत्मविश्वास मिल सकता हैं.

क्लार्क चोटिल

इमेज कॉपीरइट Getty images

हालांकि टेस्ट मैच में इनका सामना मिचेल जॉनसन, पीटर सिडल और उभरते तेज़ गेंदबाज़ जोश हेज़लवुड से होगा.

अब समाचार यह भी है कि ऑस्ट्रेलिया के कप्तान माइकल क्लार्क चोटिल होने के कारण पहले टेस्ट मैच में नही खेलेंगे.

पिछली टेस्ट सिरीज़ में क्लार्क ने सिडनी में नाबाद 329 और एडीलेड में 210 रनों की बड़ी पारी खेलकर अपने दम पर ही भारतीय गेंदबाज़ों की नाक में दम कर दिया था.

इस बात को लेकर क्रिकेट के जानकार पूछ रहे हैं कि क्या क्लार्क के नहीं खेलने का लाभ भारत को मिलेगा.

खेलने का अवसर

इमेज कॉपीरइट Reuters

इसे लेकर भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज़ चेतन चौहान का मानना है कि भारत को अपनी ताक़त पर खेलना चाहिए. क्रिकेट में खिलाड़ी को चोट लगती रहती है. वैसे भी भारत का यह बेहद लंबा ऑस्ट्रेलियाई दौरा है. वह कभी भी फिट होकर वापस आ सकते हैं.

वैसे चेतन चौहान ने यह भी कहा कि भारत को तेज़ विकेट पर अभ्यास मैच खेलने का अवसर नहीं मिला है. अब विकेट जैसी भी मिले लेकिन कुछ अभ्यास तो मिला वर्ना तो जब भारत दक्षिण अफ्रीका में खेला था तब तो अभ्यास मैच बारिश की भेंट चढ़ गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार