गाबा में खुलेगा भारत की जीत का खाता?

भारत ऑस्ट्रेलिया टेस्ट क्रिकेट मैच इमेज कॉपीरइट AFP

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच बुधवार से ब्रिस्बेन के गाबा मैदान पर चार टेस्ट मैचों की सिरीज़ का दूसरा मुक़ाबला खेला जाएगा.

ब्रिस्बेन में टीम की कमान एक बार फिर नियमित कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के पास होगी. एडिलेड में विराट कोहली ने भारतीय टीम का नेतृत्व किया था.

ऑस्ट्रेलियाई टीम का नेतृत्व भी माइकल क्लार्क की जगह युवा स्टीवन स्मिथ संभालेंगे. क्लार्क चोट के कारण पूरी सिरीज़ से बाहर हो गए हैं.

एडिलेड में हाथ से जीत फिसल जाने की कसक लिए भारतीय टीम ब्रिस्बेन पहुंची है. भारत इस हार से सबक लेते हुए टीम में क्या कुछ बदलाव करेगा?

पूर्व ऑलराउंडर मदन लाल का मानना है कि लेग स्पिनर करण शर्मा की जगह अनुभवी ऑफ़ स्पिनर आर अश्विन और तेज़ गेंदबाज़ उमेश यादव को टीम में होना चाहिए.

मैच जिताऊ खिलाड़ी

इमेज कॉपीरइट AFP

वे कहते हैं, "इसके अलावा सलामी बल्लेबाज़ शिखर धवन को अपना आक्रामक रवैया छोडकर धैर्य से खेलना चाहिए."

सवाल तो टेस्ट क्रिकेट में रोहित शर्मा की फ़ॉर्म पर भी है. मदन लाल का मानना है कि रोहित एकदिवसीय क्रिकेट के तो बेहतरीन खिलाड़ी हैं, लेकिन टेस्ट क्रिकेट बिल्कुल अलग है. रोहित को टेस्ट में ख़ुद को साबित करना होगा.

मेहमान टीम को गेंदबाज़ी में क्या रणनीति बनानी चाहिए, मदन लाल कहते हैं, "एडिलेड में गेंदबाज़ी ही भारत की हार का मुख्य कारण बनी, गेंदबाज़ों ने पहली पारी में 500 से अधिक रन लुटाए. मेरी राय में टीम में एक भी मैच जिताऊ गेंदबाज़ नहीं है."

ईशांत का अनुभव

इमेज कॉपीरइट AFP

अपना 60वां टेस्ट खेलने जा रहे ईशांत शर्मा अपने अनुभव का लाभ वरुण एरोन और मोहम्मद शमी को नहीं दे सके हैं.

अगर गेंदबाज़ 20 विकेट नही लेंगे तो भारत कैसे जीतेगा. वैसे स्पिनर के तौर पर रिकॉर्ड तो अश्विन का भी साधारण ही है.

जहाँ तक ऑस्ट्रेलिया की बात है, तो उसके लिए माइकल क्लार्क का नहीं खेल पाना बड़ा झटका है. क्लार्क ने एडिलेड टेस्ट में 128 रन की बेहतरीन पारी खेली थी.

विपक्षी टीम

इमेज कॉपीरइट AP

हालाँकि मदन लाल मानते हैं कि क्लार्क की जगह जो भी लेगा, वह भी कम नहीं होगा. बैगी ग्रीन कैप के लिए ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को कड़ी प्रतिस्पर्धा करनी होती है.

ब्रिस्बेन में भारत ने अभी तक पांच टेस्ट मैच खेले हैं जहां चार में उसकी हार हुई है, जबकि एक मैच ड्रॉ रहा है.

ऑस्ट्रेलिया के नए कप्तान स्टीवन स्मिथ युवा हैं और जोश से भरे हुए हैं. उन्होंने भारत को चेताते हुए कहा भी है कि मैदान पर हम विपक्षी टीम के दोस्त नहीं हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार