ट्विटर पर सचिन और सौरभ की 'भिड़ंत'

सचिन और सौरभ इमेज कॉपीरइट PA

भारतीय क्रिकेट के दो महानायक सचिन तेंदुलकर और सौरभ गांगुली आमने-सामने हैं. ट्विटर पर Sachin vs Ganguly पूरे दिन ट्रेंड करता रहा.

दरअसल इंडियन सुपर लीग फ़ुटबॉल मुक़ाबले में इन दोनों की टीमें फ़ाइनल में पहुँच गई हैं.

बुधवार रात एटलेटिको कोलकाता और एफ़सी गोवा के बीच सेमीफ़ाइनल का दूसरा चरण खेला गया. इसमें फ़ैसला पेनल्टी शूटआउट में 4-2 से कोलकाता के पक्ष में हुआ.

इससे पहले केरला ब्लास्टर्स चेन्नइयन एफ़सी को हराकर फ़ाइनल में जगह बना चुकी है.

कोलकाता टीम के मालिक एटलेटिको मैड्रिड और गांगुली हैं. जबकि तेंदुलकर केरल टीम के सह मालिक हैं.

'सचिन और सौरभ का मुक़ाबला'

इमेज कॉपीरइट Twitter

इस तरह अब प्रशंसक कोलकाता और केरल के मुक़ाबले को गांगुली और तेंदुलकर के मुक़ाबले के रूप में देख रहे हैं.

अभिषेक कुमार ने ट्वीट किया है, "कप्तान ने भगवान को चुनौती दी है."

वहीं हिंदुस्तान टाइम्स के दिल्ली संस्करण के संपादक अभिजित मजुमदार के ट्वीट के मुताबिक़, "सचिन बनाम गांगुली में मैं निश्चित तौर पर बंगाल का समर्थन करूँगा. दरअसल सचिन बेहतर बल्लेबाज़ हैं मगर सौरभ एक बेहतर फ़ुटबॉलर और कप्तान."

फ़निली सीरियस के नाम से हुए ट्वीट में कहा गया है, "सचिन और गांगुली की टीमों के चलते आईएसएल फ़ाइनल हाइलाइट हो रहा है. कोई और ऐसा देश है क्या जहाँ फ़ुटबॉल प्रमोशन किसी दूसरे खेल के चलते होता है."

अभिजित मेनन के अनुसार, "क्रिकेट के शहंशाह और शहज़ादे, जो कभी क्रिकेट को रोचक बनाते थे और लोगों के दिमाग़ में फ़ुटबॉल ट्रेंड कर रहे हैं."

नाराज़गी भी

बृजेन शुक्ला ने पीके टुन्न बाबा नाम से किए ट्वीट में कहा है, "आप क्रिकेट से भारत को बाहर कर सकते हो मगर भारत से क्रिकेट को कभी बाहर नहीं किया जा सकता."

वैसे कुछ लोगों ने फ़ुटबॉल की दो टीमों के मुक़ाबले को दो क्रिकेटरों के मुक़ाबले के तौर पर पेश किए जाने पर नाराज़गी भी जताई है.

इमेज कॉपीरइट v
Image caption उम्मीद की जा रही है कि इस टूर्नामेंट से भारत में फ़ुटबॉल की लोकप्रियता फैलेगी

शशि भूषण कुमार कहते हैं, "नहीं दोस्तों ये सचिन बनाम गांगुली नहीं है. ये केरल बनाम कोलकाता है. अपनी छोटी सोच की लड़ाई में दो महान खिलाड़ियों को मत घसीटो. दोनों देश के गौरव हैं."

प्रथमेश चाणेकर के ट्वीट में कहा गया है, "इसे सचिन बनाम गांगुली कहना कितनी मूर्खता है.. निश्चित रूप से जो लोग इसे ट्रेंड कर रहे हैं वे फ़ुटबॉल प्रशंसक नहीं हैं."

ये दोनों टीमें लीग स्तर पर दो बार भिड़ी थीं. इनमें एक बार दोनों के बीच मुक़ाबला 1-1 से ड्रॉ हुआ था जबकि दूसरी बार केरल की टीम ने कोलकाता को 2-1 से हरा दिया था.

दोनों के बीच फ़ाइनल शनिवार को खेला जाना है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप हमसे फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ सकते हैं.)