'बिगड़ैल' कोहली ने दिखाया विराट रूप

अंजिक्य रहाने, विराट कोहली इमेज कॉपीरइट Getty

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच मेलबर्न में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों का विराट कोहली को शब्दों के बाण में उलझना भारी पड़ा.

कोहली ने विराट रूप दिखाते हुए अपने टेस्ट जीवन का नौवां शतक अपने करियर के सर्वोच्च स्कोर के साथ 169 रन बनाए.

विराट कोहली मौजूदा टेस्ट सिरीज़ में तीन शतक बना चुके हैं.

कप्तान के रूप में खेलते हुए उन्होंने एडीलेड में खेले गए पहले टेस्ट मैच की पहली पारी में 115 और दूसरी पारी में 141 रन बनाए थे.

विरोधी माहौल

इमेज कॉपीरइट AFP

रविवार को ऑस्ट्रेलिया के तेज़ गेंदबाज़ मिचेल जॉनसन और उनके साथी विराट कोहली को 'बिगड़ैल लड़का' कहकर चिढ़ाते रहे.

विराट कोहली उनकी इस आदत को जानते हैं. उन्होंने तो ऑस्ट्रेलिया रवाना होने से पहले ही कहा था कि पिछली बार के अनुभव ने उनमें काफ़ी बदलाव पैदा किया.

वहां का विरोधी माहौल और टीम की आक्रामकता का एहसास उन्हें पहली बार हुआ था.

उस माहौल के बारे में पूरी टीम को बताना ज़रूरी है क्योंकि अगर एक बार नकारात्मक बात दिमाग़ में आ गई तो वह हर रोज़ परेशान करेगी.

अनुष्का की मौजूदगी

इमेज कॉपीरइट FEMINA

विराट कोहली ने यह भी कहा कि अकसर शतक बनाने के बाद जल्दी आउट होने को लेकर उनकी आलोचना होती रहती है.

वो ख़ुद भी 115 या 120 रन पर आउट होने से निराश थे लेकिन अब बड़ा शतक बनाकर ख़ुश हैं.

जब विराट कोहली ने अपना शतक पूरा किया तब स्टेडियम में ख़ास दर्शकों में उनकी दोस्त फ़िल्म अभिनेत्री अनुष्का शर्मा भी शामिल थी.

अनुष्का शर्मा की मौजूदगी को लेकर इस बार उतना हल्ला नहीं मचा जितना न्यूज़ीलैंड और इंग्लैंड में मचा था.

गेंदबाज़ी में पैनापन

इमेज कॉपीरइट AFP

इसे लेकर उनके कोच पूर्व दिल्ली रणजी ट्रॉफी खिलाड़ी राजकुमार शर्मा मानते हैं कि अगर कहीं विराट सस्ते में आउट हो जाते तो क्या होता. फिर कहा जाता कि अनुष्का शर्मा ज़िम्मेदार हैं. अब तो उन्हें लेडी लक कहा जा रहा है.

मिचेल जॉनसन द्वारा की गई छींटाकशी को लेकर राजकुमार शर्मा का मानना है कि उनकी गेंदबाज़ी में वैसा पैनापन नही है, जैसा इंग्लैंड के ख़िलाफ़ था. विराट कोहली का विकेट उन्हें जैसे-तैसे मिला जबकि इससे पहले वह 133 रन दे चुके थे.

इमेज कॉपीरइट Getty

रविवार को अजिंक्य रहाणे ने भी इस साल अपना तीसरा शतक बनाते हुए 147 रन बनाए. कोहली और उनके बीच चौथे विकेट के लिए 262 रनों की साझेदारी भी हुई.

अब बिगड़ा बच्चा तो भारत के लिए बहादुर बच्चा साबित हुआ लेकिन ऑस्ट्रेलिया से बचकर रहना होगा.

उनके खिलाड़ियों ने जिस तरह पांच कैच छोड़े वैसा कम ही होता हैं. इसके बावजूद कोहली और रहाणे से उनका श्रेय छीना नही जा सकता.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार