चेन्नई ओपन: भारतीयों के लिए कड़ी चुनौती

लिएंडर पेस इमेज कॉपीरइट AFP

भारत में टेनिस का सबसे बड़ा टूर्नामेंट चेन्नई ओपन सोमवार से शुरू होने जा रहा हैं.

इसमें स्विटज़रलैंड के स्टेनिसलास वावरिंका को शीर्ष वरीयता दी गई हैं.

2011 और पिछले साल चेन्नई ओपन अपने नाम करने वाले वावरिंका के अलावा दूसरी वरीयता हासिल स्पेन के फेलिसियानो लोरेज़ भी अपनी चुनौती पेश करेंगे.

स्पेन के ही रोबर्टो बतिस्ता अगुट को तीसरी और बेल्जियम के डेविड गोफिन को चौथी वरीयता दी गई हैं.

भारत के सोमदेवदेव वर्मन और रामकुमार रामानाथन को वाइल्ड कार्ड के जरिए पुरूष एकल के मुख्य दौर में जगह दी गई हैं.

सोमदेवदेव वर्मन पहले ही दौर में 38वीं वरीयता हासिल चीन ताइपे के येन सून लू से होगा.

कड़ी चुनौती

इमेज कॉपीरइट AFP GETTY

जबकि रामकुमार रामानाथन का सामना जापान के तात्सुमा इतो से होगा जिनकी विश्व वरीयता 94वीं हैं.

निश्चित रूप से एकल वर्ग में भारतीय खिलाड़ियों के लिए बेहद कड़ी चुनौती हैं.

चेन्नई ओपन में पुरूष युगल वर्ग में भारत के सबसे अनुभवी खिलाड़ी महेश भूपति साकेत मायनेनी के साथ मिलकर तो पेस दक्षिण अफ्रीका के रावेन क्लासेन के साथ मिलकर खेलेंगे.

पेस और उनके जोड़ीदार को शीर्ष वरीयता दी गई हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार