भारत-दक्षिण अफ़्रीका मैच की 10 ख़ास बातें

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

भारत ने आखिरकार विश्व कप में दक्षिण अफ्रीका से नहीं जीत पाने के कुचक्र को तोड़ा और मेलबर्न में मिले मौके पर ज़रा भी नहीं चूका.

पल-पल कैसे रंग बदला भारत और दक्षिण अफ़्रीका इस मैच ने पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.

1. भारत के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करने का फ़ैसला काफ़ी अहम साबित हुआ. टॉस के बाद दक्षिण अफ़्रीका के कप्तान एबी डी विलियर्स ने भी कहा था कि वे अगर टॉस जीतते तो वे भी बल्लेबाज़ी चुनते.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

2. शिखर धवन ने लगातार दूसरे मैच में शानदार प्रदर्शन किया. पाकिस्तान के ख़िलाफ़ मैच में वे शतक लगाने से चूक गए थे. लेकिन इस मैच में उन्होंने शानदार 137 रनों की पारी खेली.

3. धवन ने विराट कोहली और आजिंक्य रहाणे के साथ दो अहम साझेदारियाँ की, जो भारत के लिए महत्वपूर्ण साबित हुआ. धवन ने कोहली के साथ 127 और रहाणे के साथ 125 रनों की साझेदारी की.

इमेज कॉपीरइट AP

4. पाकिस्तान के ख़िलाफ़ मैच में रहाणे को निचले क्रम में उतारना अच्छा फ़ैसला साबित नहीं हुआ था. इस बार कप्तान धोनी ने उन्हें दो विकेट गिरने के बाद ही मैदान में उतारा. रहाणे ने धवन के साथ अच्छी साझेदारी की और तेज़ी से 79 रन भी बनाए.

5. हालाँकि कप्तान महेंद्र सिंह धोनी बल्लेबाज़ी में कुछ ख़ास जौहर नहीं दिखा पाए. लेकिन उन्होंने 11 गेंदों पर 18 तेज़ रन बनाकर स्कोर में अहम भूमिका निभाई.

6. एक समय ऐसा लग रहा था कि आख़िर में भारतीय टीम बिखर जाएगी और 300 का स्कोर भी पार नहीं कर पाएगी. लेकिन भारत ने 50 ओवरों में सात विकेट पर 307 रन बनाकर दक्षिण अफ़्रीका पर मनोवैज्ञानिक बढ़त बना ली.

इमेज कॉपीरइट Reuters

7. गेंदबाज़ी की बारी आई, तो भारतीय गेंदबाज़ों ने अच्छी लाइन और लेंग्थ की गेंद डालकर शुरू से ही दक्षिण अफ़्रीका पर दबाव बनाए रखा. कप्तान धोनी ने भी गेंदबाज़ों का बेहतरीन इस्तेमाल किया.

8. हालांकि शुरू में हाशिम अमला को रन आउट करने का एक आसान मौक़ा भारतीय टीम चूक गई, लेकिन बाद में अच्छी फ़ील्डिंग का भारत को लाभ मिला. डी विलियर्स और डेविड मिलर रन आउट हुए, जबकि पाँच खिलाड़ी कैच आउट हुए.

इमेज कॉपीरइट Getty

9. भारतीय स्पिनरों ने इस मैच में बेहतरीन प्रदर्शन किया. शुरू में रवींद्र जडेजा और बाद में आर अश्विन ने दक्षिण अफ़्रीकी बल्लेबाज़ों की कमर तोड़ दी. अश्विन ने दो विकेट लिए और जडेजा ने एक विकेट लिया.

10. महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी भी भारत के लिए काफ़ी अहम रही. चाहे टॉस जीतकर बल्लेबाज़ी का फ़ैसला हो, रहाणे को पहले उतारने का फ़ैसला हो, गेंदबाज़ों को सही समय पर गेंद थमाना हो- धोनी का हर फ़ैसला इस मैच में सुपरहिट साबित हुआ.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार