भारत ने दक्षिण अफ्रीका को रौंदा

शिखर धवन इमेज कॉपीरइट epa

भारत ने आखिरकार विश्व कप में दक्षिण अफ्रीका से नहीं जीत पाने के कुचक्र को तोड़ा और मेलबर्न में मिले मौके पर जीत का चौका जड़ दिया.

पूल बी में भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 130 रनों की करारी शिकस्त दी.

विश्व कप में भारत की यह लगातार दूसरी जीत है. इससे पहले भारत ने एडिलेड में पाकिस्तान को मात दी थी.

इमेज कॉपीरइट AFP

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करते हुए भारत ने शिखर धवन (137) और आजिंक्य रहाणे (79) की धमाकेदार पारियों की बदौलत निर्धारित 50 ओवरों में सात विकेट पर 307 रन बनाए थे.

ऐतिहासिक जीत

इमेज कॉपीरइट AFP

मेलबर्न में इससे पहले कोई भी टीम 300 से अधिक का लक्ष्य हासिल नहीं कर पाई थी, वह रिकॉर्ड रविवार को भी कायम रहा और दक्षिण अफ्रीकी टीम 40.2 ओवरों में 177 रन पर सिमट गई.

ये जीत इस मायने में भी ख़ास रही की विश्व कप में दक्षिण अफ्रीका के साथ पिछली तीन मुलाक़ातों में भारत जीत दर्ज नहीं कर सका था.

विश्व कप में भारत बनाम दक्षिण अफ्रीका

तारीख स्थान नतीजा
22 फ़रवरी 2015 मेलबर्न भारत 130 रन से जीता
12 मार्च 2011 नागपुर भारत 3 विकेट से हारा
15 मई 1999 होव भारत 4 विकेट से हारा
15 मई 1992 एडिलेड भारत 6 विकेट से हारा
इमेज कॉपीरइट AFP

इस जीत के हीरो रहे शिखर धवन और उन्हें मैन ऑफ़ द मैच के खिताब से नवाजा गया.

दक्षिण अफ्रीकी पारी में टर्निंग प्वाइंट रहा कप्तान एबी डीविलियर्स का आउट होना.

इमेज कॉपीरइट Reuters

अमला (22) और कॉक (7) के पैवेलियन लौटने के बाद प्लेसिस (55) और डीविलियर्स (30) ने पारी को संभालने की कोशिश की, लेकिन इनके आउट होने के बाद मानो दक्षिण अफ्रीका ने हार मान ली.

भारत की ओर से आर अश्विन ने तीन विकेट चटकाए, जबकि मोहम्मद शमी और मोहित शर्मा ने दो-दो खिलाड़ियों को आउट किया.

भारतीय पारी

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption रोहित शर्मा को डीविलियर्स ने अपने सटीक थ्रो से रन आउट किया

रोहित शर्मा और शिखर धवन ने भारतीय पारी की शुरुआत की. लेकिन रोहित बदकिस्मत रहे और शिखर की कॉल पर एक मुश्किल रन चुराने के फेर में रन आउट हो गए. रोहित अपना खाता भी नहीं खोल सके थे.

इसके बाद धवन और कोहली (46) ने दूसरे विकेट के लिए 127 रन की अहम साझेदारी की. कोहली को प्लेसिस ने इमरान ताहिर की गेंद पर लपका.

इमेज कॉपीरइट REUTERS
Image caption आर अश्विन ने भारत के लिए तीन विकेट झटके

धोनी ने आजिंक्य रहाणे को प्रमोट कर चौथे नंबर पर बल्लेबाज़ी के लिए भेजा.

कप्तान के फैसले को सही साबित करते हुए रहाणे ने अफ्रीकी गेंदबाज़ों की जमकर धुनाई की और 60 गेंदों पर 7 चौकों और तीन छक्को की मदद से 79 रन बनाए.

आख़िरी ओवरों में सिर्फ़ कप्तान धोनी (18) ही कुछ रनों का योगदान कर सके.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार