बेंच पर ही बैठी रहेगी ये 'त्रिमूर्ति'!

अक्षर, बिन्नी और रायडू इमेज कॉपीरइट GETTY IMAGES

क्रिकेट विश्व कप में भारतीय टीम लगातार छह जीत के साथ क्वार्टर फ़ाइनल में पहुँच चुकी है, लेकिन इस 15 सदस्यीय टीम में तीन चेहरे ऐसे हैं, जो बेंच पर बैठे रहकर इस विजय रथ के गवाह बने.

ये है अक्षर पटेल, स्टुअर्ट बिन्नी और अंबाटी रायडू की त्रिमूर्ति.

कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने क्वार्टर फ़ाइनल में जगह पक्की होने के बावजूद जिस तरह से बाकी लीग मैचों में भी एकादश से छेड़छाड़ नहीं की, उसे देखते हुए नहीं लगता कि टूर्नामेंट में अब इस त्रिमूर्ति को कोई मौका मिलेगा.

भुवनेश्वर कुमार ने भी अधिकांश समय बेंच पर ही गुजारा है, लेकिन उन्हें एक मैच में मैदान में उतरने का मौका मिला था.

ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड की धरती पर खेले जा रहे विश्व कप में भारतीय टीम अभी तक अजेय है.

एकादश से छेड़छाड़ नहीं

इमेज कॉपीरइट AFP

उसने अपने सभी छह लीग मैच जीते हैं और वो भी सभी विपक्षी टीमों को मटियामेट करते हुए.

अंबाटी रायडु, अक्षर पटेल और स्टुअर्ट बिन्नी को विश्व कप की 15 सदस्यीय टीम में शामिल किया गया था.

धोनी ने अब तक के विजय अभियान के दौरान अपने विजयी एकादश के सूरमाओं पर ही भरोसा जताया है.

इमेज कॉपीरइट AFP

धोनी ने सिर्फ़ एक बार ही इस एकादश के साथ छेड़छाड़ की है और वो भी मोहम्मद शमी के घायल होने पर.

संयुक्त अरब अमीरात के ख़िलाफ़ मैच के दौरान शमी को आराम दिया गया था, और उनकी जगह भुवनेश्वर कुमार को अंतिम एकादश में शामिल किया गया था.

भारत ने 2011 का विश्व कप अपनी मेजबानी में जीता था और तब भी दो खिलाड़ियों प्रवीण कुमार और आर अश्विन को बेंच पर ही पूरा समय बिताना पड़ा था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार