लाखों भारतीयों की दुआ काम न आई!

मिसबाह इमेज कॉपीरइट Reuters

एडिलेड में पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के बीच सेमीफ़ाइनल के लिए जंग हो रही थी और इधर, भारत में शायद पहली बार बड़ी संख्या में लोग पाकिस्तान की जीत की दुआ कर रहे थे.

क्रिकेट के इतिहास में शायद ऐसा पहली बार था जब भारत में क्रिकेट के दीवाने अपने परंपरागत प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान की जीत की कामना कर रहे थे.

इसकी वजह ये थी कि जब भी भारत और पाकिस्तान का क्रिकेट मैच होता है, रोमांच अपने चरम पर होता है. इस रोमांच को एक बार फिर देखने की ख़्वाहिश में लोग पाकिस्तान को जीतते हुए देखना चाहते थे.

टेलीविजन और रेडियो सेटों से चिपके लोग हर गेंद पर करीबी नज़र रखे हुए थे.

पाकिस्तान की जीत की दुआ करने के पीछे एक वजह ये भी है कि विश्व कप में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ भारत का जीत का सौ फ़ीसदी रिकॉर्ड रहा है और क्रिकेट क्रेज़ी फैंस का मानना था कि सेमी फ़ाइनल में ऑस्ट्रेलिया के मुक़ाबले पाकिस्तान को हराना ज़्यादा आसान होता.

मौका मिलेगा?

ऐसा इसलिए हो रहा था कि इस मैच का विजेता 26 मार्च को सेमी फ़ाइनल में भारत से भिड़ेगा.

इमेज कॉपीरइट AP

एक यूजर संदीप ने ट्वीट किया, "ये बेहद दबाव और तनाव वाला मुक़ाबला है, क्योंकि दोनों ही टीमें सेमी फ़ाइनल में भारत से हारने को बेताब हैं."

एक यूजर ने ‏हैंडल @TheBigDowg पर लिखा, "पाकिस्तान चाहता था कि भारत हार जाए. लेकिन भारत के लोग चाहते हैं कि पाकिस्तान जीते, ताकि हम उन्हें एक ही विश्व कप में दो बार हरा सकें."

एक और यूजर अतुल कासबेकर ने ट्वीट किया, "पाकिस्तान को भारत को एक और 'मौका' देना चाहिए."

हालाँकि मैच का नतीजा ऑस्ट्रेलिया के पक्ष में गया. ऑस्ट्रेलिया ने मैच छह विकेट से जीता और सेमी फ़ाइनल में भारत से भिड़ना सुनिश्चित किया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)