पिच भांपने में ग़लती से हारा न्यूज़ीलैंड?

न्यूज़ीलैंड के कप्तान ब्रैंडन मैक्कुलम इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption न्यूज़ीलैंड के कप्तान ब्रैंडन मैक्कुलम

मेलबर्न में विश्व कप क्रिकेट के विजेता का नाम उसी समय लगभग तय हो गया था जब ऑस्ट्रेलिया ने न्यूज़ीलैंड का बोरिया-बिस्तर महज़ 183 रनों पर बांध दिया था.

ऑस्ट्रेलिया ने बेहद आसानी से न्यूज़ीलैंड को सात विकेट से मात दे दी. इसके साथ ही ऑस्ट्रेलिया पांचवी बार चैंपियन बनने में कामयाब रहा तो न्यूज़ीलैंड का पहली बार चैंपियन बनने का सपना बिखर गया.

पिच भांपने में ग़लती

इमेज कॉपीरइट AFP

इस मुक़ाबले में न्यूज़ीलैंड के कप्तान ब्रैंडन मैक्कुलम ने टॉस जीता, लेकिन वे पिच का मिजाज़ नहीं भांप सके.

पहले बल्लेबाज़ी का फ़ैसला करने के बाद जब वह ख़ुद विकेट पर पहुंचे तो मिचेल स्टार्क की स्विंग होती शुरूआती चार गेंदे तो उन्हें समझ में ही नहीं आई.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption मिचेल स्टार्क को मैन ऑफ द टूर्नामेंट की ट्राफ़ी देने पहुंचे सचिन तेंदूलकर

इसके बाद पांचवी गेंद पर उनका स्टंप उखड़ गया और न्यूज़ीलैंड दबाव में आ गया.

दूसरे छोर से मिचेल जॉनसन ने भी दबाव बनाया. उनकी अंदर आती गेंदो पर विलियमसन को परेशानी होने लगी और वे उन्हें कैच दे बैठे.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption गेंदबाज़ी करते ग्लेन मैक्सवैल

इसके बाद कप्तान माइकल क्लार्क ने ग्लेन मैक्सवैल का बखूबी इस्तेमाल किया. एक साधारण सा स्पिनर न्यूज़ीलैंड के लिए घातक साबित हुआ.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption मैक्सवैल की गेंद पर खेलते मार्टिन गप्टिल

मैक्सवैल ने पहले तो मार्टिन गप्टिल को बोल्ड किया और उसके बाद टिम सोदी को भी रन आउट किया. मैक्सवैल ने 7 ओवर में 37 रन देकर एक विकेट लिया.

टर्निंग प्वाइंट

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption ग्रांट इलियट का विकेट गिरा

इस बीच रोस टेलर और ग्रांट इलियट के बीच चौथे विकेट के लिए 111 रनों की साझेदारी भी हुई जिसे जेम्स फॉक्नर ने तोड़ा.

उन्होंने टेलर को विकेट कीपर हैडिन के हाथों कैच करवाया. टेलर ने 40 रन बनाए.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption रॉस टेलर का कैच लपका ब्रैड हैडिन ने लपका

इसके बाद फॉक्नर ने कोरी एंडरसन को आते ही चलता कर दिया जो अपना खाता भी नहीं खोल सके.

यह मैच का ऐसा टर्निंग प्वाइंट था, जिससे न्यूज़ीलैंड को बड़ा झटका लगा.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption मिचेल स्टार्क ने ल्यूक रोंकी को किया चलता

उधर स्टार्क ने ल्यूक रोंकी को भी बग़ैर रन बनाए कप्तान क्लार्क के हाथों कैच कराया.

सिमट गई टीम

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption 183 रन पर सिमट गई टीम न्यूज़ीलैंड

आख़िरकार, न्यूज़ीलैंड की टीम केवल 183 रन पर सिमट गई. इलियट ने 83 और टेलर ने 40 रन बनाए.

सीधी सी बात यह है कि न्यूज़ीलैंड के बल्लेबाज़ अब तक अपने ही मैदान पर खेलते हुए लगातार 8 मैच जीतकर फाइनल में पहुंचे थे. वे अपने आप को मेलबर्न के विकेट के मुताबिक़ ढ़ाल नहीं सके.

इमेज कॉपीरइट Allsport
Image caption विट्टोरी का विकेट लेने की बधाई बटोरते मिचेल जॉनसन

फॉक्नर, स्टार्क और जॉनसन की तिकड़ी की स्विंग और तेज़ गेंदों के सामने वह खुलकर भी नहीं खेल सके. जॉनसन और फॉक्नर ने 3-3 और स्टार्क ने 2 विकेट अपने नाम किये.

शुरू से बढ़िया ऑस्ट्रेलिया

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर

ऑस्ट्रेलिया के डेविड वार्नर ने शुरूआत में ही 46 गेंदो पर 45 रन बनाकर मैच को टीम के पक्ष में कर लिया. उसके बाद कप्तान माइकल क्लार्क ने अपने अंतिम मैच में 74 रनों की शानदार पारी खेलकर टीम को जीत के क़रीब पहुंचा दिया.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption जब स्टीव स्मिथ का विकेट गिरति-गिरते बचा, मैट हेनरी ने सर पकड़ लिया

पूरे विश्व कप में शानदार फॉर्म में चल रहे स्टिव स्मिथ ने भी नाबाद 56 रन बनाए. ऑस्ट्रेलिया ने जब जीत के लिये 184 रनों का लक्ष्य हासिल किया तब भी 101 गेंद और 7 विकेट बचे हुए थे.

कप्तान की विदाई

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption ब्रैंडन मैक्कुलम के साथ मैट हैनरी

विकेट से जो फ़ायदा ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज़ों ने उठाया वह न्यूज़ीलैंड के टिम साउथी, ट्रैंट बोल्ट और मैट हैनरी नहीं ले सके.

वैसे भी फाइनल में जब बल्लेबाज़ों ने केवल 183 रन बनाए हों तो भला गेंदबाज़ कर ही क्या लेते?

इमेज कॉपीरइट Getty

ऑस्ट्रेलिया ने ख़िताबी तोहफे के साथ शान से अपने कप्तान को विदाई थी, और एक बेहतर टीम ने ही फाइनल जीता.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार