जीत के लिए तरसती दिल्ली डेयरडेविल्स

युवराज सिंह इमेज कॉपीरइट Other
Image caption युवराज सिंह

आईपीएल-8 में बुधवार को भी केवल एक मैच खेला जाएगा, जहां पुणे में किंग्स इलेवन पंजाब का सामना दिल्ली डेयर डेविल्स से होगा.

दिल्ली डेयर डेविल्स इससे पहले अपने दोनों मुक़ाबले हार चुकी है. पिछले साल भी यह टीम अंक तालिका में अंतिम स्थान पर थी.

(पढ़ेंः दिल्ली के लिए जीत अभी दूर)

युवराज सिंह को सबसे महंगे दाम में खरीदने के बावजूद न तो टीम के सितारे बदले हैं और ना ही वो खिलाड़ी चमके हैं जो सितारे हैं.

पढ़ें विस्तार से

इमेज कॉपीरइट Other
Image caption मिचेल जॉनसॉन

आलम तो यह है कि जब आईपीएल का सीज़न शुरू होने से पहले युवराज सिंह और ज़हीर खान को दिल्ली में मीडिया से मिलवाया गया तो दोनों ने शानदार खेल दिखाने का वादा किया.

(पढ़ेंः मुकाबले का किंग कौन?)

युवराज सिंह तो ख़ैर मैदान में उतरे लेकिन ज़हीर खान तो अभी तक मैदान से दूर ही हैं.

उनकी फिटनेस संदेह के घेरे में है तो कोढ़ में खाज वाली हालत तब हो गई जब पिछले दिनों विश्व कप में शानदार प्रदर्शन करने वाले तेज़ गेंदबाज़ मोहम्मद शमी भी घुटने की चोट से परेशान हो गए.

स्पिन गेंदबाज़ी

इमेज कॉपीरइट Other
Image caption दिल्ली डेयर डेविल्स के लेग स्पिनर अमित मिश्रा

ऐसे में दिल्ली को काफी हद तक इमरान ताहिर और अमित मिश्रा की स्पिन गेंदबाज़ी ने संभाल रखा है.

(पढ़ेंः दिखेगा दिल्ली का दम?)

इन्होंने अभी तक खेले गए दोनों मुक़ाबलों में अपना दमख़म दिखाया है लेकिन वे ही क्या करे जब बल्लेबाज़ ही नही चल पा रहे हैं.

पहले मैच में तो चेन्नई के ख़िलाफ वो एक रन से हारे जबकि उनके सामने जीत के लिए केवल 150 रनों का लक्ष्य था.

पुछल्ले बल्लेबाज़

इमेज कॉपीरइट Other
Image caption दिल्ली डेयर डेविल्स के कप्तान जेपी डुमिनी.

दूसरे मैच में राजस्थान रॉयल्स ने उन्हें उनके घर दिल्ली में ही हराया.

(पढ़ेंः बंगलौर ने दी कोलकाता को मात)

इमरान ताहिर ने कमाल की गेंदबाज़ी भी की और चार विकेट लेकर टीम को जीत के दरवाज़े तक भी पहुंचा दिया था लेकिन अंतिम गेंद पर टिम सऊदी जैसे पुछल्ले बल्लेबाज़ ने एंजलो मैथ्यूज़ की गेंद पर चौका लगाकर दिल्ली का दिल बैठा दिया.

दूसरी तरफ किंग्स इलेवन पंजाब अभी तक एक मैच जीती है और एक हारी है.

धुंआधार पारी

इमेज कॉपीरइट Other
Image caption पंजाब किंग्स इलेवन टीम की सह मालिक प्रीति ज़िंटा.

पंजाब अपने पहले मैच में राजस्थान रॉयल्स से 26 रन से हारी लेकिन अगले मैच में उसने मुंबई इंडियंस को 18 रन से मात दी.

(पढ़ेंः सुपरकिंग्स ने सनराइजर्स को धूल चटाई)

पंजाब को अभी भी ग्लेन मैक्सवैल और डेविड मिलर के बल्ले से निकलने वाली धुंआधार पारी का इंतज़ार है.

गेंदबाज़ी में उनके पास मिचेल जॉनसन के फिट होकर लौटने से जान आ गई है. अक्षर पटेल भी अपनी फिरकी गेंदों से बल्लेबाज़ों को फंसा रहे हैं.

मैच का नक्शा

इमेज कॉपीरइट Other
Image caption वीरेंद्र सहवाग

पंजाब के लिए राहत की बात तब रही जब पिछले मैच में मुंबई के ख़िलाफ वीरेंद्र सहवाग ने केवल 19 गेंदो पर छह चौके और एक छक्का लगाते हुए 36 रन बनाए.

टी-ट्वेंटी जैसे छोटे फॉर्मेट में ऐसी पारी भी मैच का नक्शा बदल देती है. दिल्ली के पास जेपी डूमिनी, मयंक अग्रवाल, केदार जाघव और सीएम गौतम के अलावा युवराज सिंह जैसे बल्लेबाज़ हैं.

एंजलो मैथ्यूज़ भी बेहतरीन ऑलराउंडर हैं लेकिन अपने दम पर ही मैच जीताने वाले खिलाड़ियों की निश्चित रूप से इस टीम में कमी है.

दिल्ली आईपीएल में अभी तक पिछले और इस सीज़न को मिलाकर कुल 11 मैच लगातार हार चुकी है. कोई बताए कि जीतने के लिए दिल्ली का दम क्यों फूल रहा है?

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार