गेल के तूफ़ान से कैसे बचेगा मुंबई?

विराट कोहली, आईपीएल 8, रॉयल बैंगलुरु इमेज कॉपीरइट PTI

आईपीएल-8 के रविवार को हो रहे दूसरे मुक़ाबले में मुंबई इंडियंस, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरु का उसके घरेलू मैदान पर सामना करेगी.

इस आईपीएल में मुंबई इंडियंस के खेल को जैसे ग्रहण सा लग गया है. अपना सब कुछ दांव पर लगाने के बावजूद टीम पहली जीत की तलाश में भटक रही है.

अभी तक अपने चारों मैच हारकर अंक-तालिका में सबसे नीचे पहुंच चुकी मुंबई ने अपनी टीम में सबसे अधिक फेरबदल भी किए हैं लेकिन उसे इसका कोई फ़ायदा नहीं मिला.

दूसरी तरफ़ बैंगलुरु की टीम ने विराट कोहली की कप्तानी में पहले मैच में हारने के बाद दूसरे मैच में जीत का स्वाद चखा.

बैंगलुरु ने अपने पिछले मैच में पिछले सीज़न के चैंपियन कोलकाता नाइटराइडर्स को 3 विकेट से मात दी.

गेल का करिश्मा

इमेज कॉपीरइट AFP

केवल एक बल्लेबाज़ अगर विकेट पर टिक जाए और उसके बल्ले से चौक्के-छक्के बरसने लगें तो क्या होता है, ये दिखाया क्रिस गेल ने.

गेल ने कोलकाता के गेंदबाज़ों की धज्जियां उड़ाते हुए रन आउट होने से पहले 7 चौक्के और 7 छक्के लगाते हुए 96 रन बनाए और टीम की मुस्कुराहट वापस ला दी.

मुंबई इंडियंस अभी तक तय नहीं कर सकी है कि उसकी सलामी जोड़ी क्या हो? वहीं एरोन फिंच चोटिल होकर आईपीएल से बाहर हो चुके हैं.

कप्तान रोहित शर्मा ने पहले मैच में कोलकाता के ख़िलाफ नाबाद 98 रन बनाए. उसके बाद अगले मैच में पंजाब के ख़िलाफ शून्य पर आउट होने के बाद राजस्थान के ख़िलाफ सलामी बल्लेबाज़ के तौर पर नहीं आए. बल्लेबाज़ी का नंबर बदला लेकिन क़िस्मत नहीं बदली, खाता फिर भी नहीं खुला.

रोहित ने चेन्नई के ख़िलाफ 50 रन बनाए, और टीम का स्कोर 183 रहा लेकिन वहां कमज़ोर गेंदबाज़ी टीम को ले डूबी.

गेंदबाज़ रहे फीके

इमेज कॉपीरइट PTI

मुंबई के स्टार गेंदबाज़ लसिथ मलिंगा चार मैचों में केवल चार विकेट ले सके हैं तो हरभजन सिंह गेंद से अधिक बल्ले से चमके हैं.

टीम के तेज़ गेंदबाज़ पवन सुयाल को तीन मैचों में एक भी विकेट नहीं मिला है. आर विनय कुमार भी चार मैच में केवल एक विकेट ले सके हैं.

सचिन तेंदुलकर, रिकी पोंटिग, अनिल कुंबले, रोबिन सिंह जूनियर और जोंटी रोड्स जैसे थिंक टैंक के होते हुए भी टीम की इस हालत का ज़िम्मेदार कौन है, यह भी एक यक्ष प्रश्न है.

मुंबई इंडियंस के किरेने पोलार्ड करिश्माई बल्लेबाज़ हैं. उन्होंने चेन्नई के ख़िलाफ 64 और राजस्थान के ख़िलाफ 70 रन भी बनाए.

वहीं कोरी एंडरसन भी कोलकाता के ख़िलाफ नाबाद 55 और राजस्थान के ख़िलाफ 50 रनों की पारी खेल चुके हैं. इन दोनों बल्लेबाज़ों के बैटिंग ऑर्डर में फेरबदल से शायद बात बने.

बल्लेबाज़ों का दम

इमेज कॉपीरइट PTI

दूसरी तरफ़ बैंगलुरु के पास विराट कोहली, क्रिस गेल, दिनेश कार्तिक, एबी डिविलियर्स और डेरेन सैमी जैसे बल्लेबाज़ हैं और यही टीम की असली ताक़त है.

दोनों टीमें अभी तक 15 बार आमने-सामने हुई हैं जिसमें आठ बार मुंबई और सात बार बैंगलुरु जीती है.

काग़ज़ पर तो दोनों टीमें लगभग बराबर हैं लेकिन मुंबई अपनी पहली जीत के लिए जी जान लगाएगी, ऐसे में बैंगलुरु को बचकर रहना होगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार