जीत की राह पर लौटना चाहेगी चेन्नई

चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाड़ी आर अश्विन इमेज कॉपीरइट PTI

आईपीएल-8 में बुधवार को दूसरे मुक़ाबले में इस सीज़न में एक से बढ़कर एक सितारों से सजी-धजी चेन्नई सुपर किंग्स और रॉयल चैलेंजर बंगलौर आमने-सामने होंगी.

दोनों ही टीमों को पिछले मुक़ाबले में हार का सामना भी करना पड़ा है.

(पढ़ें- जीत के लिए तरसती...)

चेन्नई को राजस्थान के रणबांकुरो ने अहमदाबाद में आठ विकेट से करारी मात दी जबकि बंगलौर को मुंबई ने 18 रन से हराया.

चेन्नई के बल्लेबाज़

इमेज कॉपीरइट PTI

अब दो टीमें खेलेंगी तो एक तो जीतेगी ही, लेकिन बंगलौर इस मैच में अपने ही घर में थोड़ी अधिक तैयारी से उतरेगी.

(पढ़ें- बंगलौर की बोलती बंद की)

पिछले मैच में मुंबई के बल्लेबाज़ों ने उनके गेंदबाज़ों की ज़बर्दस्त धुनाई करते हुए निर्धारित 20 ओवर में सात विकेट खोकर 207 रनों का विशाल स्कोर बनाया.

दूसरी तरफ चेन्नई के बल्लेबाज़ों को राजस्थान के गेंदबाज़ों ने ऐसा बांधा कि उनका बल्ला जैसे रन बनाना ही भूल गया.

रन का संघर्ष

इमेज कॉपीरइट PTI

यहां तक कि कप्तान महेंद्र सिंह धोनी जैसे धुरंधर बल्लेबाज़ भी 37 गेंदों पर 31 रन ही बना सके.

(पढ़ें- बल्ले की है जंग)

वह तो भला हो ड्वेन ब्रावो का जिन्होंने फिर भी 36 गेंदों पर 62 रन बनाकर टीम के स्कोर को जैसे-तैसे 156 रन तक पंहुचाया.

वैसे हैरानी की बात यह रही कि जिस पिच पर चेन्नई के बल्लेबाज़ रन बनाने के लिए संघर्ष कर रहे थे उसी पिच पर राजस्थान के कप्तान शेन वाटसन और अजिंक्य रहाणे ने पहले विकेट के लिए 144 रन जोड़ दिए.

विपक्षी पर भारी

इमेज कॉपीरइट Getty

अब किसी ना किसी मैच में तो ऐसा हो सकता है. इसके बावजूद क्रिस गेल, विराट कोहली, एबी डिविलियर्स, मनविंदर बिस्ला, दिनेश कार्तिक जैसे बल्लेबाज़ों से पार पाना चेन्नई के गेंदबाज़ों के लिए चुनौतीपूर्ण होगा.

(पढ़ें- पंजाब ने छीनी मुंबई से जीत)

चेन्नई के अनुभवी तेज़ गेंदबाज़ आशीष नेहरा और मोहित शर्मा के साथ-साथ स्पिन में आर अश्विन और रवींद्र जडेजा अपनी गेंदों से विपक्षी टीमों पर अगर भारी नही पड़े हैं तो कम भी साबित नही हुए हैं सिवाए राजस्थान को छोड़कर.

चेन्नई सुपर किंग्स एक ऐसी टीम है जो लगातार मैच हारने वालों में नही है. एक हार के बाद ही उनके कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने अपना गुस्सा खिलाड़ियों पर उतारा.

जलवा

इमेज कॉपीरइट pti

सुरेश रैना और ब्रैंडन मैक्कुलम आईपीएल में अपना जलवा दिखाते रहते हैं. मैक्कुलम तो इस बार भी शतक जमाने में कामयाब रहे हैं.

आंकड़ों में दोनों टीमें अभी तक 17 बार आईपीएल में आमने-सामने हुई हैं. चेन्नई नौ बार और बंगलौर सात बार जीती है.

इस आईपीएल में चेन्नई चार में से केवल एक मैच हारी है जबकि बंगलौर को तीन में से दो में हार का सामना करना पड़ा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार