पलड़ा तो बैंगलौर का ही भारी

विराट कोहली इमेज कॉपीरइट PTI

आईपीएल-8 में बुधवार को किंग्स इलेवन पंजाब अपने ही मैदान मोहाली में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर का सामना करेगी.

इस मैच के परिणाम से किंग्स इलेवन पंजाब पर कोई असर नहीं पड़ेगा. वह पहले ही प्ले ऑफ़ मुक़ाबलों की दौड़ से बाहर हो चुकी है.

पंजाब अंक तालिका में सबसे निचले पायदान पर है. उसे अभी तक 12 मैचों में से 10 में हार का सामना करना पड़ा है.

दूसरी तरफ विराट कोहली की कप्तानी में खेल रही बैंगलौर 11 में से 6 मैच अपने नाम कर चुकी है.

वह अभी भी प्ले ऑफ़ में जगह बना सकती है. ऐसे में विराट कोहली नहीं चाहेंगे कि टीम जीत के लिए कोई कसर बाकि रखे.

खराब प्रदर्शन

इमेज कॉपीरइट PTI

वहीं पिछले मुक़ाबलें में पंजाब ने हैदराबाद की सांस तो जैसे एक बार तो रोक ही दी थी. जीत के लिए 186 रनों की तलाश मे पंजाब केवल पांच रन से हारा.

पंजाब के लिए खेल रहे दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज़ डेविड मिलर ने केवल 44 गेंदो पर 9 छक्के जमाते हुए नाबाद 89 रन बनाकर खेल में तब रोमांच पैदा किया जबकि एक समय पंजाब के 6 विकेट केवल 99 रन पर गिर चुके थे.

दरअसल पंजाब की इस सीज़न में बुरी हालत के लिए नामी-गिरामी बल्लेबाज़ों का ऐसा खराब प्रदर्शन ही ज़िम्मेदार है. जब मुरली विजय, मनन वोहरा, रिद्धिमान साहा और ग्लेन मैक्सवैल जैसे खिलाड़ी ना तो अच्छी शुरूआत दे और ना ही बड़ा स्कोर बनाए तो टीम कैसे जीते.

बैंगलौर के 13 अंक है. पिछले मुक़ाबले में बैंगलौर ने एबी डिविलियर्स की 133 रनों की नाबाद शतकीय पारी और विराट कोहली के भी नाबाद 82 रनों की मदद से मुंबई के ख़िलाफ़ केवल एक विकेट खोकर 235 रन बनाए.

बैंगलौर के तेज़ गेंदबाज़ मिचेल स्टार्क और हर्षल पटेल विरोधी बल्लेबाज़ों को बहुत अधिक खुलकर खेलने का अवसर नहीं दे रहे हैं.

गेंदबाजों के लिए चुनौती

इमेज कॉपीरइट Getty

बैंगलौर के सलामी बल्लेबाज़ क्रिस गेल भी पंजाब के ही ख़िलाफ़ पिछले मैच में 117 रनों की शतकीय पारी खेलकर सभी गेंदबाज़ों को गंगनम डांस करा चुके हैं.

गेल ने 117 रनों की पारी में पूरे सौ रन 12 छक्कों और 7 चौक्कों की मदद से बनाए थे. पिटाई गेंदबाज़ों की हुई और सहम गए बल्लेबाज़ और हालत यह हुई कि जवाब में पूरी टीम 13.4 ओवर में ही केवल 88 रन पर सिमट गई.

एक बार फिर पलड़ा तो बैंगलौर का ही भारी लगता है. वैसे आंकड़ों में दोनों टीमें अभी तक 15 बार आमने-सामने हुई है जिनमें 9 बार पंजाब और 6 बार बैंगलौर जीती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार