धकियाने के मामले में धोनी पर जुर्माना

मुस्ताफ़िज़ुर रहमान इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption गुरुवार को वनडे करियर का आगाज़ करने वाले मुस्ताफ़िज़ुर पाँच विकेट लेकर 'मैन ऑफ़ द मैच' बने थे.

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और बांग्लादेश के तेज़ गेंदबाज़ मुस्ताफ़िज़ुर रहमान पर गुरुवार को मैच के दौरान जानबूझकर टकराने के कारण जुर्माना लगाया गया है.

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने धोनी पर मैच फ़ीस का 75 प्रतिशत जबकि रहमान पर मैच फ़ीस का 50 प्रतिशत जुर्माना लगाया है.

रहमान के करियर का यह पहला मैच था जिसमें वो मैन ऑफ़ द मैच भी रहे थे.

आईसीसी ने एक प्रेस रिलीज़ जारी कर दोनों खिलाड़ियों पर नियमों के उल्लंघन के कारण जुर्माना लगाने की पुष्टि की है.

धोनी ने नकारे आरोप

इमेज कॉपीरइट AP

शुक्रवार सुबह आईसीसी के इलीट पेनल के रेफ़री एंडी पाइक्रॉफ़्ट ने सुनवाई की. दोनों ही खिलाड़ियों ने जानबूझकर टकराने के आरोप नकार दिए.

रेफ़री ने मैच की टीवी फ़ुटेज देखी जिसके बाद जुर्माना लगाया गया.

इस सुनवाई में दोनों खिलाड़ियों के अलावा मैच अधिकारी और टीमों के प्रबंधक भी शामिल हुए.

पाइक्रॉफ़्ट न कहा, "अपने बचाव में धोनी ने तर्क दिया कि गेंदबाज़ ग़लत साइड पर थे और जब उन्हें लगा कि वे टक्कर से बच नहीं सकते तो उन्होंने प्रभाव को कम करने के लिए हाथ और बांह से उन्हें धकेल दिया."

पाइक्रॉफ़्ट ने कहा, "मेरा मानना यह है कि धोनी ने जानबूझकर मुस्ताफ़िज़ुर को धक्का दिया जो ग़लत था. अनुभवी धोनी को टक्कर से बचना चाहिए था क्योंकि क्रिकेट में खिलाड़ियों को शारीरिक स्पर्श से बचना चाहिए."

मुस्ताफ़िज़ुर ने ग़लती मानी

इमेज कॉपीरइट Getty

मुस्ताफ़िज़ुर ने शुरुआत में आरोप नकार दिए लेकिन जब उन्हें सबूत दिखाए गए तो उन्होंने अपनी ग़लती स्वीकार कर ली.

उन्होंने कहा कि उन्हें बल्लेबाज़ के संपर्क में न आने के लिए और प्रयास करने चाहिए थे.

गुरुवार को भारत और बांग्लादेश के बीच मीरपुर में हुए मुक़ाबले में बांग्लादेश ने भारत को 79 रनों से क़रारी शिकस्त दी थी.

मुस्ताफ़िज़ुर रहमान पाँच विकेट लेकर मैन ऑफ़ द मैच रहे थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार