सानिया-हिंगिस ने जीता खिताब

martina_hingis_and_sania इमेज कॉपीरइट Reuters

भारत की सानिया मिर्ज़ा और स्विटज़रलैंड की मार्टिना हिंगिस की जोड़ी ने विंबलडन में महिलाओं का डबल्स खिताब जीत लिया है.

विंबलडन के सेंटर कोर्ट पर दो घंटे सैंतालीस मिनट तक चले मुकाबले में सानिया और हिंगिस ने रूस की येकातेरिना मकारोवा और एलेना वेज़्निना को हराया.

ये 28 साल की सानिया के लिए महिलाओं का पहला डबल्स ग्रैंड स्लैम खिताब है. जबकि 34 साल की मार्टिना हिंगिस के लिए ये दसवां ग्रैंड स्लैम है.

हिंगिस ने 1997 में विंबलडन का सिंगल्स खिताब जीता था. वो 1996 और 1998 में महिलाओं का डबल्स खिताब जीत चुकी हैं.

वहीं सानिया 2011 में फ़्रेंच ओपन का महिलाओं का डबल्स जीतने से चूक गई थीं तब एलेना वेज़्निना उनकी पार्टनर थीं.

साल 2009 में महेश भूपति के साथ ऑस्ट्रेलियन ओपन का मिक्स्ड डबल्स जीतकर सानिया ग्रैंड स्लैम जीतने वाली पहली भारतीय महिला बन गई थीं.

इसके बाद उन्होेंने 2012 में मिक्सड डबल्स में फ्रेंच ओपन जीता और 2014 में मिक्सड डबल्स में यूएस ओपन जीता.

इस तरह अलग अलग वर्गों में वो चारों ग्रैंड स्लैम जीत चुकी हैं.

कड़ा संघर्ष

इमेज कॉपीरइट AP

मकारोवा और वेज़्निना को सानिया और हिंगिस ने 5-7, 7-6 (4), 7-5 से हराया.

सानिया और हिंगिस कड़े संघर्ष के बावजूद पहला सेट हार गई थीं.

दूसरे सेट में भी सानिया और हिंगिस ने कड़े संघर्ष के बाद मकारोवा और वेज़्निना को हराया.

इमेज कॉपीरइट Getty

तीसरे सेट में शुरुआत में पिछड़ने के बाद सानिया और हिंगिस ने ज़ोरदार वापसी की.

जब स्कोर 5-5 था तभी अंधेरे की वजह से मैच रोका गया और कोर्ट की छत बंद कर दी गई. जब खेल दोबारा शुरू हुआ तब हिंगिस और सानिया ने शानदार खेल दिखाते हुए खिताब पर कब्ज़ा कर लिया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार