पटना से ट्रेन पकड़ी और बीसीसीआई से उलझ गए....

इमेज कॉपीरइट PTI

मेरी लड़ाई उनके खिलाफ रहेगी जो क्रिकेट को कलंकित कर रहे हैं- ये कहना है आदित्य वर्मा का.

बिहार क्रिकेट संघ के सचिव आदित्य वर्मा ने दो साल पहले आईपीएल मैचों में फिक्सिंग के खिलाफ जनहित याचिका दायर की थी.

भारत के सुप्रीम कोर्ट ने आईपीएल में सट्टेबाजी के खिलाफ इसकी दो टीमों पर दो साल का और एन श्रीनिवासन के दामाद गुरुनाथ मयप्पन और राजस्थान रॉयल्स के सह मालिक राज कुंद्रा पर आजीवन प्रतिबंध लगाए हैं.

आदित्य वर्मा ने बीबीसी से बातचीत में मैच फिक्सिंग के खिलाफ लड़ने की पहली बार कब सोची और क्या उनकी लड़ाई यहीं खत्म हो गई है, इन सब सवालों के जवाब दिए.

आदित्य वर्मा ने बताया कि वे साल 2006 से ही बिहार क्रिकेट की पहचान के लिए बीसीसीआई से संघर्ष कर रहे हैं.

ललित मोदी की मदद

इमेज कॉपीरइट Getty

आदित्य वर्मा ने बताया, "मीडिया से मुझे पता चला कि बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष श्रीनिवासन ने अपने दामाद के गलत कामों को ढंकने के लिए मद्रास के दो रिटायर जजों के पैनल को बहाल किया है."

उन्होंने कहा, "उसी समय मैंने पटना से ट्रेन पकड़ी, मुंबई आया और इनके खिलाफ़ याचिका दायर की."

ललित मोदी से मदद लेने के आरोप के जवाब में आदित्य कहते हैं, "मदद का मतलब होता है पैसों से मदद, या प्रोत्साहित करना, हिम्मत देना. अभी जो ललित गेट मामला आया उसमें ललित मोदी ने भारत के वित्त मंत्री पी चिदंबरम को अपने इस हाल के लिए सबसे बड़ा दोषी माना है."

वे बताते हैं कि पी चिदंबरम की पत्नी नलिनी चिदंबरम, जिन्हें मदर ऑफ इंडियन क्रिकेट कहा जाता है, उनका केस लड़ रही हैं.

आदित्य ने कहा, "अगर ललित मोदी नलिनी के पति को अपने हाल के लिए दोषी मानते हैं तो सोचिए कि वो हमें पैसों से कैसे मदद करेंगे जबकि उनकी पत्नी मेरा केस लड़ रही हैं."

29 राज्यों को मौका

इमेज कॉपीरइट AFP

आईपीएल में एक बड़ा फैसला आने के बाद आदित्य वर्मा का 2013 में याचिका दायर करने का मकसद पूरा होता दिखता है. लेकिन अब अगली लड़ाई क्या है उनके सामने?

आदित्य का मानना है कि अभी बहुत सारे मुद्दे हैं जिन पर उन्हें लड़ना बाकी है.

साथ ही, वे ये भी मांग करते हैं कि अगर इंडिया क्रिकेट टीम बीसीसीआई बनाती है तो इसमें हिंदुस्तान के सभी 29 राज्य को मौका मिलना चाहिए.

क्या उनकी लड़ाई कुछ खिलाड़ियों के खिलाफ भी रहेगी जो मैच फिक्सिंग या स्पॉट फिक्सिंग में शामिल हैं, इसके जवाब में उन्होंने कहा, "मेरी लड़ाई उनके खिलाफ रहेगी जो क्रिकेट को कलंकित कर रहे हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार