डोपिंग: 28 खिलाड़ियों पर होगी कार्रवाई

डोपिंग इमेज कॉपीरइट EPA

अंतरराष्ट्रीय एथलेटिक्स एसोसिएशनों की महासंघ (आईएएएफ़) ने कहा है कि उसने जांच के बाद 28 खिलाड़ियों के ख़िलाफ़ अनुशासनात्मक कार्रवाई करने का फ़ैसला किया है.

आईएएएफ़ के अनुसार 2005 और 2007 के विश्व चैंपियनशिप के विजेताओं के रक्त के नमूनों की दोबारा जांच के बाद ये फ़ैसला किया गया है.

लेकिन आईएएएफ़ ने कहा है कि क़ानूनी वजहों से वो अभी इन खिलाड़ियों के नाम सार्वजनिक नहीं कर सकता है.

आईएएएफ़ के अनुसार उनमें से बहुत कम खिलाड़ी अभी भी सक्रिय हैं और उन्हें फ़िलहाल निलंबित किया जा रहा है जिसके कारण इसी महीने बीजिंग में होने वाली विश्व चैंपियनशिप में वे खिलाड़ी हिस्सा नहीं ले सकेंगे.

पिछले सप्ताह आई रिपोर्ट में कहा गया था कि पिछले कुछ वर्षों में हुए ओलंपिक और विश्व चैंपियनशिप के कई विजेताओं के रक्त नमूनों की जांच के बाद वे शक के घेरे में आ गए हैं.

आईएएएफ़ ने कहा है कि उसने उन नमूनों की दोबारा जांच इसी साल अप्रैल में शुरू की थी, ताज़ा आरोपों के उजागर होने से बहुत पहले.

800 एथलीटों पर सवाल

इमेज कॉपीरइट Getty

पिछले सप्ताह ब्रितानी अख़बार द संडे टाइम्स और जर्मनी के ब्रॉडकास्टर एआरडी ने 5000 एथलीटों के 12,000 रक्त जाँच नमूनों के नतीजों में पाया था कि बड़े पैमाने पर धोखाधड़ी हुई है.

सबूतों के आधार पर विशेषज्ञों ने ये शक जताया था कि 2001 से 2012 के बीच हुए ओलंपिक और अंतरराष्ट्रीय मुक़ाबलों में मेडल जीतने वाले एक तिहाई एथलीट्स ने प्रतिबंधित दवाओं या फिर परफ़ोर्मेंस बढ़ाने वाले पदार्थों का सेवन किया था.

डाटा को देखने वाले विशेषज्ञों का कहना है कि 2001 से 2012 के बीच हुए ओलंपिक और अंतरराष्ट्रीय खेलों में भाग लेने वाले या फिर मेडल जीतने वाले 800 एथलीटों के ब्लड टेस्ट नतीज़े शक पैदा करते हैं.

विशेषज्ञों का कहना है कि 2012 में लंदन में हुए ओलंपिक खेलों में दस पदक उन एथलीटों ने जीते जिनके टेस्ट नतीजे संदिग्ध थे.

इस रिपोर्ट के बाद अंतरराष्ट्रीय एथलेटिक्स डोपिंग के मुद्दे पर एक नए तूफ़ान में घिर गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार