आज का दिन सचिन के लिए क्यों है ख़ास

सचिन तेंदुलकर

नाम- सचिन रमेश तेंदुलकर

दिन- 14 अगस्त

साल-1990

जगह- ओल्ड ट्रेफ़र्ड, मैनचेस्टर (इंग्लैंड)

सचिन तेंदुलकर के लिए ठीक 25 साल पहले आज का दिन ख़ास था. ख़ास इसलिए क्योंकि विश्व क्रिकेट में सबसे अधिक रनों का अंबार लगाने वाले दाएं हाथ के बल्लेबाज़ सचिन ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का पहला शतक लगाया था.

सचिन ने इंग्लैंड के ख़िलाफ़ दूसरी पारी में 119 रन बनाए थे और नॉट आउट रहे थे. हालाँकि यह टेस्ट बेनतीजा समाप्त हुआ था.

उस दौर में टेस्ट मुक़ाबलों में एक दिन आराम का भी होता था, यानी कुल मिलाकर टेस्ट मैच छह दिन में समाप्त होता था.

मुक़ाबला 9 अगस्त को शुरू हुआ था और इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी चुनी थी. सचिन ने 14 अगस्त को मैच की चौथी पारी में शतक लगाकर टेस्ट जीतने के इंग्लैंड के इरादों पर पानी फेर दिया.

वनडे में पांच साल बाद शतक

इमेज कॉपीरइट PA

सचिन ने 15 नवंबर 1989 को पाकिस्तान के ख़िलाफ़ कराची टेस्ट में अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की शुरुआत की थी.

उन्होंने नवंबर 2013 में वेस्टइंडीज के ख़िलाफ़ अपना आख़िरी टेस्ट खेला. इस दौरान उन्होंने 200 टेस्ट मैचों में 51 शतकों और 68 अर्धशतकों की मदद से 15921 रन बनाए.

यूँ तो सचिन ने वनडे मैचों में भी 49 शतक बनाए हैं, लेकिन दिलचस्प ये है कि मास्टर ब्लास्टर को वनडे में अपनी पहली सेंचुरी जड़ने के लिए पाँच साल और 79 मैचों का इंतज़ार करना पड़ा.

सचिन ने पाकिस्तान के ख़िलाफ़ 18 दिसंबर 1989 को गुजरांवाला में अपने वनडे करियर का आगाज़ किया था.

उन्होंने 9 सितंबर 1994 को कोलंबो में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ उन्होंने 110 रन की पहली खेल वनडे में पहली सेंचुरी बनाई थी.

सचिन तेंदुलकर ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में 100 शतकों के साथ 34 हज़ार से अधिक रन बनाए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार