क्या संगकारा सचिन से महान क्रिकेटर हैं?

कुमार संगकारा इमेज कॉपीरइट Getty

भारत और श्रीलंका के बीच कोलंबो में गुरुवार से दूसरा टेस्ट मैच शुरू होने जा रहा है.

यह दुनिया के महान विकेटकीपर बल्लेबाज़ कुमार संगकारा का अंतिम टेस्ट मैच है.

इससे पहले गॉल में खेले गए पहले टेस्ट मैच में श्रीलंका ने ग़ज़ब की वापसी करते हुए भारत को 63 रन से मात दी थी.

श्रीलंका कोलंबो में किसी भी हालत में कुमार संगकारा की विदाई को फीका नहीं पड़ने देगा.

ऐसा माना जा रहा है कि कोलंबो में बल्लेबाज़ों के अनुकूल विकेट बनाई जाएगी ताकि कुमार संगकारा को भी बड़ी पारी खेलने का अवसर मिल सके.

यह बात अलग है कि कुमार संगकारा कभी भी रन बनाने के लिए अच्छे विकेट के मोहताज नहीं रहे.

तेंदुलकर और संगकारा

कुमार संगकारा का श्रीलंकाई क्रिकेट में वही स्थान है जो भारत में सचिन तेंदुलकर का है.

इमेज कॉपीरइट Other

क्रिकेट समीक्षक अयाज़ मेमन कहते हैं कि यह तुलना तो बनती है कि इन दोनों में से पिछले 20-25 सालों में क्रिकेट का सबसे बड़ा खिलाड़ी कौन रहा है.

भारत में तो अमूमन लोग सचिन तेंदुलकर के साथ होंगे लेकिन श्रीलंका में तो एक सर्वेक्षण हुआ तो कुमार संगकारा को नंबर एक खिलाड़ी माना गया.

अयाज़ मेमन कहते हैं कि लोकप्रियता में तो दोनों का मिलाप होता है लेकिन कई जगह दोनों बिलकुल अलग है.

सचिन ने अपना क्रिकेट जीवन केवल 16 साल की उम्र में शुरू किया, वही संगकारा ने 22.

तेंदुलकर आते ही जैसे बॉक्स ऑफिस हिट हो गए, जबकि कुमार संगकारा को लोकप्रिय होने में समय लगा.

संगकारा के साथ उनके कई प्रतिद्वंद्वी थे जैसे महेला जयवर्धने और मुरलीधरन, लेकिन धीरे-धीरे संगकारा आगे निकल गए क्योंकि उनमें निरंतरता थी- उन्होंने बहुत सारे रन बनाए.

इमेज कॉपीरइट Reuters

एक बात सचिन और संगकारा में समान रही कि दोनों ने ही पूरे विश्व में सम्मान हासिल किया. दोनों को पूरा क्रिकेट जगत पहचानता है.

इसी साल समाप्त हुए विश्व कप में संगकारा के चार शतक बनाने की बात पर मेमन कहते हैं कि तब लगा था कि शायद वह अकेले दम पर ही श्रीलंका को विश्व कप जिता देंगे.

इस विश्वकप में बेहतरीन फॉर्म में थे. यह नहीं भूलना चाहिए कि उनकी उम्र 37 साल थी.

मैदान पर राजदूत

संगकारा के बारे में कहा जाता है कि उन्होंने विदेशों में अधिक रन नहीं बनाए, लेकिन एक खिलाड़ी अगर कहीं भी 250-300 रन बनाता है तो यह छोटी बात नहीं है.

फिर संगकारा ने ज़्यादा क्रिकेट श्रीलंका में ही खेला है.

भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज़ आकाश चोपड़ा कहते हैं कि इस बात को हमेशा याद रखना होगा कि श्रीलंका भारत के मुक़ाबले छोटा सा देश है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

श्रीलंका की जनसंख्या कम है और क्रिकेट कम ही लोग खेलते हैं. इसके बावजूद संगकारा ने सचिन की तरह पूरी दुनिया में श्रीलंका का नाम रोशन किया.

संगकारा विकेटकीपर थे और क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में वह बेहतरीन खेले. क्रिकेट के मैदान पर उनका व्यवहार एक राजदूत की तरह रहा, यही खूबी सचिन की भी रही.

संगकारा मुरलीधरन के बाद श्रीलंका से सबसे बड़े क्रिकेटर हैं.

भारत के पूर्व तेज़ गेंदबाज़ अतुल वासन कहते है कि क्रिकेट का इतिहास खिलाड़ियों के योगदान से नही बल्कि स्टाइल से बनता है और संगकारा का अपना स्टाइल रहा है.

टेस्ट क्रिकेट में उनके 12000 से अधिक रन हैं और अगर उसमें उनकी विकेटकीपिंग जोड़ लें तो वह उन्हें सबसे अलग बनाती है.

इमेज कॉपीरइट AFP

उनके 12 दोहरे शतक हैं जो उन्हें ब्रैडमैन के समकक्ष खड़ा करते हैं.

अतुलनीय संगकारा

एक और क्रिकेट समीक्षक प्रदीप मैगज़ीन कहते हैं कि सचिन और संगकारा दोनों समान रूप से महान बल्लेबाज़ रहे हैं.

सचिन क्योंकि अधिक समय तक खेले, ढेरों शतक और रन बनाए तो उनका दर्जा थोड़ा बड़ा है लेकिन संगकारा ने जो कुछ श्रीलंका के लिए अपने देश और बाहर जाकर किया उसकी कोई तुलना नहीं है.

अगर टीम में उनके योगदान की तुलना सचिन से की जाती है तो कहीं से भी उनका योगदान सचिन से कम नही है.

श्रीलंका का दौरा कर रही भारतीय टीम के टीम निदेशक पूर्व कप्तान रवि शास्त्री ने कहा कि संगकारा दुनिया के शीर्ष दो-तीन खिलाड़ियों में रहे.

इमेज कॉपीरइट Getty

सचिन को इस लीग में रखा जा सकता है जो एक बार इसमें शामिल होने के बाद उससे बाहर नहीं निकले.

भारतीय टीम के कप्तान कप्तान विराट कोहली ने कहा कि एक युवा टीम होने के नाते हमारे लिए यह सम्मान की बात है कि वह आखिरी मैच हमारे ख़िलाफ खेल रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार