पता नहीं, सानिया के साथ खेलूंगा कि नहीं: पेस

इमेज कॉपीरइट EPA

भारतीय टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस ने कहा है कि अभी से कहना मुश्किल है कि ओलंपिक में वह सानिया मिर्ज़ा के साथ जोड़ी बनाकर खेलेंगे कि नहीं.

साल 2012 में लंदन ओलंपिक में लिएंडर पेस और सानिया की जोड़ी क्वार्टर फ़ाइनल में ही बाहर हो गई थी.

लंदन ओलंपिक में सानिया के जोड़ीदार के रूप में कौन खेलेगा, इसे लेकर बड़ी बहस हुई थी. आख़िरकर फ़ैसला लिएंडर पेस के हक़ में हुआ था.

लिएंडर ने इस साल यूएस ओपन, विंबलडन और ऑस्ट्रेलियन ओपन में स्विटज़रलैंड की खिलाड़ी मार्टिना हिंगिस के साथ मिक्स्ड डबल्स का ख़िताब जीता है.

रियो पर नज़र

इमेज कॉपीरइट Getty

अगले साल रियो ओलंपिक होने हैं और एक बार फिर सवाल वही है कि सानिया के साथ मिक्स्ड डबल्स कौन खेलेगा? रोहन बोपन्ना या पेस?

बोपन्ना ने इस पर अपनी राय जताते हुए कहा है कि सानिया को ये निर्णय खुद लेना चाहिए.

पेस ने इस सवाल के जवाब में कहा, " अभी काफ़ी महीने बाकी हैं सिलेक्शन के लिए. लेकिन मैंने इस साल काफ़ी मेहनत की है. तीन ग्रैंड स्लैम जीते हैं. मैंने अपना काम कर दिया है बाकी सिलेक्टर्स के ऊपर है कि वो किसे चुनेंगे."

ओलंपिक मेडल

इमेज कॉपीरइट Reuters

ओलंपिक में भारत को अभी तक टेनिस में सिर्फ़ एक ही कांस्य पदक मिला है जो साल 1996 के अटलांटा ओलंपिक में लिएंडर ने जीता था.

पर 19 साल बाद भी टेनिस में भारत की झोली खाली क्यों है इस पर पेस कहते हैं, "सभी देशों के प्रोफ़ेशनल खिलाड़ी ओलंपिक खेलते हैं पर हर खिलाड़ी का अलग नज़रिया होता है. ओलंपिक में ज़्यादा पैसे नहीं होते और ग्रैंड स्लैमस में करोड़ों मिलते हैं. ये खिलाड़ी के ऊपर है कि वो किसे तवज्जो देते हैं. मेरे लिए दोनों ही अहम हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार