टेनिस में भ्रष्टाचार रोकने के उपायों की समीक्षा

टेनिस में फिक्सिंग के आरोप सामने आने के बाद इस खेल से जुड़े अधिकारियों ने घोषणा की है कि टेसिन में भ्रष्टाचार रोकने वाले उपायों की समीक्षा होगी.

ये क़दम बीबीसी और बज़फ़ीड न्यूज़ की उस छानबीन के बाद उठाया जा रहा है जिसमें कह गया है कि टेनिस में संदिग्ध तौर पर ग़ैर क़ानूनी सट्टेबाज़ी चल रही है.

विश्व टेनिस में भ्रष्टाचार के मामलों पर नज़र रखने वाली संस्था टेनिस इंटीग्रिटी बोर्ड के प्रमुख फिलिप ब्रूक ने कहा, "ये ज़रूरी है कि जो नुक़सान हुआ है उसे ठीक किया जाए और जल्दी ठीक किया जाए."

उधर, पूर्व विंबडलन चैंपियन गोरान इवानसेविच का कहना है कि खिलाड़ियों का ऐसे पीछा किया जा रहा है जैसे वो 'सीरियल किलर' हों.

बीबीसी और बज़फीड न्यूज़ की साझा पड़ताल में ऐसी फाइलें मिलीं जो बताती हैं कि पिछले 10 साल के दौरान टॉप 50 में शामिल 16 खिलाड़ियों के बारे में बार-बार टेनिस इंटीग्रिटी यूनिट को बताया गया और संदेह जताया गया कि वो जानबूझ कर मैच हारे.

इन खिलाड़ियों में ग्रैंड स्लैम ख़िताब जीतने वाले खिलाड़ी भी शामिल हैं, हालांकि उन्हें खेलने से कभी नहीं रोका गया.

खेल से जुड़े अधिकारियों ने दुनिया भर की सरकारों से अपील की है कि वो मैच फिक्सिंग को अपराध करार दें.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार