महिला मैचों में दर्शक कम, तो पैसे बराबर क्यों?

नोवाक जोकोविक इमेज कॉपीरइट AP

दुनिया के नंबर वन टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच ने महिला और पुरुषों के लिए एक समान पुरस्कार राशि पर सवाल उठाया है.

जोकोविच ने पुरुषों को ज्यादा पैसे देने की वकालत करते हुए कहा है कि ऐसा इसलिए होना चाहिए क्योंकि महिलाओं के मुक़ाबले उनके मैचों को देखने ज्यादा दर्शक आते हैं.

इंडियन वेल्स में बीएनपी परिबास जीतने के बाद जोकोविच ने कहा कि दर्शकों के आधार पर पुरस्कार राशि तय होनी चाहिए.

उन्होंने सुझाव दिया कि टिकट बिक्री और टीवी दर्शकों को आधार बनाकर ही इंवेंट के पैसों को बांटना चाहिए.

इससे पहले, इंडियन वेल्स टेनिस गार्डन के सीईओ रेमंड मूर ने कहा था कि महिला डब्ल्यूटीए टूर ''पुरुष टेनिस की वजह से ही चल रहा है."

हालांकि जोकोविच के अनुसार यह टिप्पणी समझधारी भरी नहीं है.

इमेज कॉपीरइट AP

सर्बियन खिलाड़ी ने कहा कि महिलाओं ने अपने हक़ की लड़ाई लड़ी और उन्हें अब अपना हक़ मिलने लगा है. लेकिन पुरुष टेनिस खिलाड़ियों को और अधिक के लिए लड़ाई लड़नी चाहिए.

जोकोविच का कहना है कि सभी आंकड़े इस बात की ओर इशारा करते हैं कि पुरुष टेनिस मैच के दर्शकों की संख्या काफी ज्यादा है.

यही कारण है कि वो मानते हैं कि पुरुष खिलाड़ियों को महिलाओं के मुकाबले ज्यादा पैसा मिलना चाहिए.

वहीं महिला टेनिस की नंबर एक खिलाड़ी सेरेना विलियम्स ने मूर की टिप्पणी को बेहद 'अपमानजनक' और 'ग़लती और बहुत, बहुत बड़ी ग़लती' बताया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार