सेक्सिस्ट टिप्पणी के बाद रेमंड मूर का इस्तीफ़ा

रेमंड मूर इमेज कॉपीरइट AFP

महिला टेनिस पर दिए बयान से उठे विवाद के बाद इंडियन वेल्स प्रमुख रेमंड मूर ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है.

69 साल के मूर ने कहा था कि महिला टेनिस का वजूद पुरुष खिलाड़ियों की वजह से है.

मूर ने यहां तक कहा था, "अगर मैं महिला टेनिस खिलाड़ी होता तो हर रात घुटनों पर बैठकर भगवान का शुक्रिया अदा करता कि रफ़ाएल नडाल और रोजर फ़ेडरर जैसे खिलाड़ी हैं जिनकी वजह से ये खेल इतना आगे बढ़ा."

मूर के इस बयान को अमरीकी टेनिस एसोसिएशन ने "सेक्सिस्ट" बताया है.

इमेज कॉपीरइट EPA

दुनिया की नंबर एक महिला टेनिस खिलाड़ी सेरेना विलियम्स ने मूर के बयान को अपमानजनक और गलत बताया था.

इमेज कॉपीरइट Reuters

दुनिया के नंबर एक पुरुष टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच ने भी मूर के बयान की आलोचना तो की लेकिन साथ ही कहा कि पुरुष खिलाड़ियों को महिला खिलाड़ियों की तुलना में ज़्यादा पैसे मिलने चाहिए क्योंकि दर्शक पुरुषों का मैच देखने ज़्यादा संख्या में जाते हैं. मानते हैं कि महिलाओं और पुरुषों को एक बराबर मैच के पैसे नहीं मिलने चाहिए.

इमेज कॉपीरइट AP

पूर्व महिला टेनिस खिलाड़ी मार्टिना नवरातिलोवा ने मूर के बयान को पक्षपात पूर्ण बताते हुए कहा था कि अगर मूर इस्तीफा नहीं देते तो सभी महिला टेनिस खिलाड़ी इंडियन वेल्स टूर्नामेंट का बहिष्कार कर सकती हैं.

बता दें कि 2007 से ऑस्ट्रेलियन ओपन, यूएस ओपन, फ्रेंच ओपन और विंबल्डन में महिला और पुरुष खिलाड़ियों को एक समान पैसे मिलते हैं.

इंडियन वेल्स और मयामी टूर्नामेंट में भी महिलाओं और पुरुषों को बराबर पैसे दिए जाते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार