आफ़रीदी का टी-20 टीम की कप्तानी से इस्तीफ़ा

इमेज कॉपीरइट AFP

शाहिद आफ़रीदी ने वर्ल्ड टी-20 में पाकिस्तानी टीम के ख़राब प्रदर्शन के बाद टीम की कप्तानी से इस्तीफ़ा दे दिया है.

शाहिद आफ़रीदी पहले ही टेस्ट और वनडे क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं लेकिन उन्होंने टी-20 प्रारूप में खेलते रहने की इच्छा जताई है.

उन्होंने अपने बयान में कहा, “मैं पाकिस्तान और दुनिया भर के अपने फ़ैंस को बताना चाहता हूं कि अपनी मर्जी से मैं टी-20 की कप्तानी छोड़ रहा हूं.”

हालांकि आफ़रीदी ने ये स्पष्ट किया है कि वे पाकिस्तान की ओर से आगे भी टी-20 खेलते रहना चाहेंगे. उन्होंने अपने बयान में कहा है, “इंशाअल्लाह, मैं अपने देश और लीग क्रिकेट में खेलता रहूंगा. मैं अनुरोध करता हूं कि मेरे फ़ैंस मेरे लिए दुआएं करें और निकट भविष्य में पाकिस्तान के लिए एक खिलाड़ी के तौर पर बेहतर प्रदर्शन करने में मेरा साथ दें.”

इमेज कॉपीरइट Getty

आफ़रीदी की कप्तानी में पाकिस्तान वर्ल्ड टी-20 के सेमीफ़ाइनल में नहीं पहुंच सका. हालांकि बांग्लादेश के ख़िलाफ़ आफ़रीदी ने महज 19 गेंदों पर 49 रन बनाकर टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई. लेकिन बाक़ी मैचों में वे कुछ ख़ास नहीं कर पाए.

इसके चलते पाकिस्तान के लीजेंडरी क्रिकेटरों ने भी आफ़रीदी की काफी आलोचना की है. जावेद मियांदाद ने पिछले दिनों एक पाकिस्तानी टीवी चैनल पर कहा था, “पाकिस्तानी टीम में आफ़रीदी की जगह कुछ साल पहले ही ख़त्म हो चुकी थी.”

इतना ही नहीं टीम के कोच वकार यूनुस ने भी अपनी रिपोर्ट में शाहिद आफ़रीदी के प्रदर्शन की आलोचना की थी.

इमेज कॉपीरइट AP

ईएसपीएन क्रिकइंफो वेबसाइट के मुताबिक वकार ने अपनी रिपोर्ट में लिखा था, “कई मौकों पर मैं ये स्पष्ट कर चुका हूं कि आफ़रीदी ना तो बल्ले से और ना ही गेंद से और ना ही कप्तान के तौर पर बेहतर कर पा रहे हैं. लेकिन मेरी बातें नहीं सुनी गईं.”

आफ़रीदी ने कुल मिलाकर पाकिस्तान के लिए 43 टी-20 मैचों में कप्तानी की है, जिनमें पाकिस्तान ने 19 मैच जीते हैं, जबकि 23 मैच में टीम को हार का सामना करना पड़ा और एक मैच टाई रहा.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार