कप्तान तो बीसीसीआई तय करेगा: धोनी

महेंद्र सिंह धोनी इमेज कॉपीरइट AFP

भारतीय क्रिकेट कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा है कि वो अपने खेल का मज़ा ले रहे हैं और कप्तान रहना या न रहना उनके बस में नहीं है.

धोनी ज़िम्बाब्वे दौरे पर जाने से पहले मंगलवार को पत्रकारों से मुख़ातिब थे तो उनसे भारतीय टीम के पूर्व टेक्नीकल निदेशक रवि शास्त्री के बयान पर सवाल पूछा गया.

शास्त्री ने कहा था कि अब टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली को ही तीन फॉर्मेंट यानी वनडे, टेस्ट और टी-20 का कप्तान बना देना चाहिए.

इस पर धोनी ने कहा, “ऐसा तो नही है कि मैं खेल का आनंद नही ले रहा हूं. लेकिन कप्तान कौन बनेगा यह निर्णय तो बीसीसीआई को लेना है. मैं इसमें कुछ नही कह सकता.”

उन्होंने कहा, "अब मेरी उम्र 35 साल हो गई है, लेकिन फिटनेस मेरे लिए कोई समस्या नही है."

एक कप्तान के तौर पर ज़िम्बॉब्वे दौरे को लेकर धोनी ने कहा कि यह एक अलग तरह का अनुभव होगा.

उन्होंने कहा, "इस सिरीज़ में अधिकतर नए खिलाड़ी है जो मेरे साथ पहली बार खेलेंगे. मेरे लिए ज़रूरी है कि मैं उनकी क़ाबिलियत का जल्दी से पता कर सकूं."

इमेज कॉपीरइट Reuters

उन्होंने कहा, "सबसे अच्छी बात है कि सभी खिलाड़ी पहले भी भारत ए या फिर आईपीएल जैसे टूर्नामेंट में खेल चुके है."

भारतीय टीम जिम्बाब्वे में तीन एकदिवसीय और तीन टी-20 मैच खेलेगी. वनडे सीरिज का पहला मुक़ाबला 11 जून को हरारे में खेल जाएगा जबकि टी-20 सिरीज़ 18 जून से शुरू होगी.

इमेज कॉपीरइट Getty

भारतीय टीम के भावी कोच के बारे में धोनी ने कहा कि भाषा खेल में कभी आड़े नहीं आती है.

दरअसल बीसीसीआई ने भारतीय क्रिकेट टीम के कोच पद के लिए 10 जून तक आवेदन मंगाए जिसमें कहा गया है कि कोच अगर हिंदी जानता हो, तो अच्छा है.

अभी तक भारतीय क्रिकेट टीम के चयन समिति के अध्यक्ष संदीप पाटिल और रवि शास्त्री भी आवेदन कर चुके हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप ह में फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार