नई नवेली टीम के साथ खेलेंगे धोनी

महेंद्र सिंह धोनी इमेज कॉपीरइट AFP

ज़िम्बाब्वे दौरे पर गई टीम इंडिया शनिवार को अपने पहले वनडे मुक़ाबले में खेलने उतरेगी.

पिछले चार सालों में भारत का यह तीसरा ज़िम्बाब्वे दौरा है.

महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में एक दो अनुभवी खिलाड़ियों के अलावा अधिकतर युवा तो नहीं, लेकिन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अनुभवहीन हैं, इन्हीं के साथ भारतीय टीम ज़िम्बाब्वे से एकदिवसीय सिरीज़ खेलेगी.

इमेज कॉपीरइट Reuters

रिकॉर्ड में दोनों टीमों के बीच अभी तक 60 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच खेले गए है.

भारत ने 48 और ज़िम्बाब्वे ने 10 मैच जीते हैं. दो मुक़ाबलें टाई रहे.

विश्व कप क्रिकेट टूर्नामेंट के बाद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का यह पहला विदेशी दौरा है.

ऐसा बहुत दिनों बाद है जब भारत के अधिकतर जाने-पहचाने चेहरे किसी सीरिज़ में शामिल नहीं हैं.

इनमें रोहित शर्मा, शिखर धवन, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, सुरेश रैना, आर अश्विन, रविंद्र जडेजा, भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी भी शामिल हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

भारत के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी इनमें सबसे अनुभवी खिलाड़ी हैं.

वह अभी तक 275 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके हैं.

उनके बल्ले से अभी तक नौ शतक और 60 अर्धशतक की मदद से 8918 रन निकल चुके हैं, यानी 9000 रनों का आंकड़ा छूने के लिए उन्हें सिर्फ़ 22 रनों की ज़रूरत है.

ज़िम्बाब्वे के ख़िलाफ केएल राहुल, मनीष पांडेय, अंबाती रायडू, अक्षर पटेल, जसप्रीत बुमराह, बरींदर सरन, धवल कुलकर्णी और युजुवेन्दर चहल पर सबकी नज़रें रहेंगी.

इमेज कॉपीरइट AP

केएल राहुल ने तो बीते आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरु के लिए कई धमाकेदार और तेज़तर्रार पारियां खेली.

इसी का इनाम उन्हें मिला. आईपीएल-9 में उन्होंने विराट कोहली, क्रिस गेल और एबी डिविलियर्स जैसे बड़े सितारों के बीच चार अर्धशतकों की मदद से 397 रन बनाए.

उनके अलावा बैंगलुरु के ही युजुवेन्दर चहल ने अपनी लेग ब्रेक और गुगली का दम दिखाते हुए 21 विकेट झटके.

वैसे ख़ुद भारत के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ज़िम्बाब्वे दौरे को लेकर कह चुके हैं कि अधिकतर नए खिलाड़ियों के साथ खेलने का यह अलग तरह का अनुभव होगा.

उनके लिए अधिकतर खिलाड़ियों की क्षमता को पहचानकर परिस्थितियों के अनुरुप उनसे सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कराना पहली चुनौती है.

दूसरी तरफ़ ज़िम्बाब्वे की टीम में एल्टन चिगुम्बरा और सीन विलियम्स जाने-पहचाने खिलाड़ी हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

चिगुम्बुरा अभी तक 199 एकदिवसीय अंतराष्ट्रीय मैच खेल चुके हैं.

वह दो शतक और 19 अर्धशतक की मदद से 4179 रन बना चुके हैं. इतना ही नहीं, वह 101 विकेट भी हासिल कर चुके हैं.

सीन विलियम्स अभी तक 95 एकदिवसीय मैच खेल चुके हैं.

उन्होंने एक शतक और 24 अर्धशतक की मदद से 2675 रन बनाए हैं. वह 35 विकेट भी ले चुके हैं.

सलामी बल्लेबाज़ बुसी सिबांडा भी 124 एकदिवसीय मैचों में दो शतक और 20 अर्धशतक की मदद से 2898 रन बना चुके हैं.

उनके जोड़ीदार हैमील्टन मसाकादज़ा भी कम अनुभवी नहीं.

वह तो 165 एकदिवसीय खेलकर चार शतक और 30 अर्धशतक की मदद से 4649 रन बना चुके हैं.

इसके साथ 38 विकेट भी उनके खाते में हैं.

कप्तान ग्रेमी क्रेमर भी 61 एकदिवसीय मैचों में एक अर्धशतक की मदद से 519 रन बना चुके है तो अपनी गुगली के दम पर 74 विकेट भी झटक चुके हैं.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

ऑलराउंडर सिकंदर रज़ा भी कम नहीं हैं.

वह 55 एकदिवसीय मैचों में तीन शतक और चार अर्धशतक की मदद से 1431 रन बनाने के अलावा अपनी ऑफ ब्रेक गेंदों के सहारे 22 विकेट ले चुके हैं.

कुल मिलाकर भले ही ज़िम्बाब्वे भारत से पिछले दिनों अधिक मैच नहीं जीता है लेकिन इन खिलाड़ियों के दम पर वह उलटफेर करने की क्षमता रखता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार