रोहित शेखर की 'रहस्यमय मौत' की गुत्थी सुलझेगी?

  • 22 अप्रैल 2019
इमेज कॉपीरइट PTI

वरिष्ठ नेता नारायण दत्त त्रिपाठी के बेटे रोहित शेखर की अस्वाभाविक मौत के सिलसिले में दिल्ली पुलिस के विशेष जांच दल ने रोहित शेखर की पत्नी, उनके सौतेले भाई और घर में काम करने वाले तीन कर्मचारियों से सवाल जवाब किए हैं.

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच इस अस्वाभाविक मौत को 'हत्या की आशंका' मान कर जांच कर रही है और जांच की दिशा भी उसी ओर है.

दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी का कहना है कि पोस्ट मार्टम की रिपोर्ट में शेखर की गर्दन की दो हड्डियों के टूटने की बात सामने आयी है, जो हत्या की आशंका को बढ़ा देते हैं.

फ़िलहाल पुलिस के शक के दायरे में शेखर की पत्नी अपूर्वा के साथ साथ कुछ और लोग भी हैं, जिनसे पूछताछ का सिलसिला जारी है.

विशेष जांच दल यानी स्पेशल इंवेस्टिगेटिंग टीम का नेतृत्व दिल्ली पुलिस के क्राइम ब्रांच के डीसीपी जॉय तिर्की कर रहे हैं.

पुलिस कई पहलुओं पर जांच कर रही है जिसमे शेखर की माँ उज्ज्वला के द्वारा लगाए गए आरोप भी हैं.

दिल्ली पुलिस के अधिकारी का कहना है कि रोहित शेखर की माँ उज्ज्वला शर्मा ने पुलिस को दिए बयान में आरोप लगाया कि एनडी तिवारी के निजी सचिव रह चुके एक व्यक्ति की भूमिका भी संदिग्ध है.

दिल्ली पुलिस अभी तक आधिकारिक रूप से किसी की गिरफ़्तारी की बात स्वीकार नहीं कर रही है.

रोहित शेखर: एनडी तिवारी के बेटे का हक हासिल करने वाले का निधन

वारिस की ज़िम्मेदारी अब उठा रहे हैं 'रसिक तिवारी'

इमेज कॉपीरइट Getty Images

हालांकि कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की बात तो दिल्ली पुलिस मान रही है. जिन लोगों को हिरासत में लिया गया है उनकी फॉरेनसिक जांच भी कराई गयी है ताकि शेखर की मौत की गुत्थी को सुलझाई जा सके.

दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता मधुर वर्मा ने बीबीसी से बात करते हुए कहा चूँकि जांच जारी है इसलिए इस मामले में बहुत ज़्यादा जानकारी साझा नहीं की जा सकती है.

उनका कहना था, "दिल्ली पुलिस ने इस सिलसिले में हत्या का मामला दर्ज किया है. अनुसंधान का ज़िम्मा क्राइम ब्रांच को सौंपा गया है, जो सभी पहलुओं की जांच कर रहा है. विशेष जांच दल तय समय सीमा के अंदर ही अपना अनुसंधान पूरा कर लेगा और जल्द ही इस माले में गिरफ़्तारियां भी हो जाएंगी."

पत्नी की भूमिका पर शक

पुलिस की निगाह रोहित की पत्नी अपूर्वा की भूमिका पर तो है ही, साथ ही वो दूसरे पहलुओं की जांच भी कर रही है.

जांच दल फ़िलहाल रोहित और उनकी पत्नी के फोन कॉल रिकार्ड की पड़ताल कर रहा है. मगर वो अभी तक व्हाट्सएप्प और फेसबुक के मेसेंजर से की गयी 'कालों' और उनसे भेजे गए मेसेज नहीं निकाल पाया हैं क्योंकि उन्हें डिलीट कर दिया गया था.

इमेज कॉपीरइट SHIV JOSHI

कोई बाहरी व्यक्ति नहीं

उसी तरह शेखर के डिफेंस कॉलोनी स्थित आवास में लगे नौ सीसीटीवी कैमरों की जांच से भी पता चला है कि जिस रात शेखर की मौत हुई, उस रात किसी भी बाहरी व्यक्ति के घर के अंदर दाखिल होने के संकेत नहीं मिले हैं.

पुलिस को आशंका है कि रोहित रोज़ नींद की गोली खाकर सोया करते थे. जांच में ये बात सामने आ रही है कि जिस वक़्त शेखर की हत्या की गयी उस वक़्त उन्होंने नींद की गोलियां ज़्यादा खायी हुईं थीं.

पुलिस को शक है कि शेखर की नींद की हालत का फायदा उठाकर ही उनकी हत्या की गयी. पोस्ट मॉर्टम की रिपोर्ट में भी इस बात का पता चला है कि उनकी मौत दम घुटने की वजह से हुई है.

जांच के दौरान शेखर की मां उज्ज्वला शर्मा ने पुलिस को दिए गए अपने बयान में ये आरोप भी लगाया है कि शेखर और उनकी पत्नी के बीच रिश्ते खराब चल रहे थे.

उन्होंने संपत्ति विवाद की तरफ भी इशारा किया है. मगर दिल्ली पुलिस का कहना है कि जांच पूरी नहीं तक कुछ भी कहना अनुसंधान में बाधा पहुंचा सकता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार