भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आज़ाद तिहाड़ जेल से रिहा हुए

  • 16 जनवरी 2020
भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आज़ाद इमेज कॉपीरइट ANI

भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आज़ाद गुरुवार देर शाम तिहाड़ जेल से रिहा हो गए हैं.

दिल्ली एक अदालत में बुधवार को उन्हें सशर्त ज़मानत दी थी. कोर्ट ने उनकी जमानत इस शर्त पर मंजूर की है कि वो 16 फरवरी तक दिल्ली में किसी भी तरह के विरोध प्रदर्शन का हिस्सा नहीं बनेंगे.

पिछले दिनों में दिल्ली में नागरिकता संशोधन क़ानून को लेकर कई प्रदर्शन हुए थे. इनमें से एक दिल्ली के दरियागंज इलाक़े में हुआ था.

नागरिकता संशोधन कानून के ख़िलाफ़ भीम आर्मी ने 20 दिसंबर को पुरानी दिल्ली की जामा मस्जिद से जंतर मंतर तक मार्च करने का ऐलान किया था. इसके लिए पुलिस से अनुमित नहीं ली गई थी. इसी संबंध में उन्हें दिल्ली के दरियागंज इलाके से गिरफ़्तार किया गया था.

इसके पहले हुई सुनवाई में कोर्ट ने दिल्ली पुलिस पर सवाल उठाए थे और उनकी कार्रवाई के लिए फटकार लगाई थी. कोर्ट ने कहा था कि देश की संसद में जो बातें कही जानी चाहिए थीं वो नहीं कही गईं, इसी वजह से लोग सड़कों पर हैं.

कोर्ट ने यह भी कहा था कि देश में नागरिकों को विरोध जताने का अधिकार संविधान से मिला है.

जेएनयू कैम्पस में अब शांति: वीसी जगदीश कुमार

इमेज कॉपीरइट JAGDISH KUMAR FB

दिल्ली स्थित जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा है कि कैम्पस में बहुत शांति है.

समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में उन्होंने कहा- हमने छात्रों की सुरक्षा के लिए हर क़दम उठाए हैं. कई परीक्षाएँ समय पर होने वाली हैं और सब अच्छा चल रहा है.

पिछले दिनों जेएनयू में छात्रों पर नक़ाबपोश लोगों ने हमला किया था. जिसमें कई लोग घायल हुए थे. जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष को भी काफ़ी चोटें आई थी.

जेएनयू के वामपंथी छात्र संगठन हिंसा के लिए आरएसएस के छात्र संगठन एबीवीपी को ज़िम्मेदार बताते हैं, जबकि एबीवीपी इसके लिए वामपंथी छात्र संगठनों को ज़िम्मेदार बताती है.

दिल्ली पुलिस इस मामले की जाँच कर रही है. पुलिस ने इस मामले में आइशी घोष समेत आठ छात्रों को नोटिस जारी किया है.

निर्भया के दोषियों की फाँसी में देरी के लिए भाजपा ने आप को घेरा

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने दिल्ली के बहुचर्चित निर्भया मामले में दोषियों की फाँसी में देरी के लिए आम आदमी पार्टी की सरकार को ज़िम्मेदार ठहराया है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

प्रकाश जावड़ेकर ने कहा- उच्च न्यायालय ने दोषियों की अपील 2017 में ही ख़ारिज कर दी थी, लेकिन दिल्ली सरकार ने उन्हें दो साल तक दया याचिका दायर करने के लिए नोटिस नहीं दिया.

दूसरी ओर आम आदमी पार्टी ने कहा है कि भाजपा को कोई मुद्दा नहीं मिल रहा है.

आप के वरिष्ठ नेता और दिल्ली सरकार में मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि आम आदमी पार्टी की सरकार निर्भया के दोषियों को फांसी दिलवाने के लिए कटिबद्ध है इसमें दिल्ली सरकार का जो भी रोल होगा वो लाइटिंग स्पीड पर होगा कहीं कोई देरी नहीं होगी.

अमित शाह ने कहा- बिहार चुनाव नीतीश के नेतृत्व में

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि बिहार में विधानसभा चुनाव भारतीय जनता पार्टी और जनता दल (यू) मिलकर लड़ेंगी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

उन्होंने कहा कि वे सभी अफ़वाहों पर विराम लगाते हुए ये बताना चाहते हैं कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही बिहार का चुनाव लड़ा जाएगा.

बिहार के वैशाली में अमित शाह ने कहा कि वे यहाँ मुस्लिम भाइयों को ये बताने आए हैं कि वे नागरिकता संशोधन क़ानून के बारे में पढ़ें.

अमित शाह ने कहा- मैं राहुल बाबा और लालू प्रसाद यादव को ये बताने आया हूँ कि वे लोगों को धोखे में न रखें. ममता दीदी और केजरीवाल जी, आप भी लोगों को भ्रम में न डालें.

ABVP पर पश्चिम बंगाल में छात्रों पर हमले का आरोप

पश्चिम बंगाल के विश्व भारती यूनिवर्सिटी परिसर में नकाबपोश लोगों ने दो छात्रों की बुरी तरह पिटाई की है.

इमेज कॉपीरइट SM Viral Image

यह वही विश्वविद्यालय है जिसकी स्थापना गुरुदेव रवींद्रनाथ ठाकुर ने की थी.

घायल विद्यार्थियों का संबंध वामपंथी छात्र स्टूडेंट फ़ेडरेशन ऑफ़ इंडिया से बताया जा रहा है.

घायल छात्रों ने आरोप लगाया है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने यह हमला किया था.

पश्चिम बंगाल पुलिस ने मामले में एफ़आइआर दर्ज कर ली है. इस आरोप पर एबीवीपी की प्रतिक्रिया अभी नहीं मिली है.

वहीं कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ़ इंडिया (मार्क्सवादी) ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया है, "कल देर रात अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के गुंडों ने शांति निकेतन स्थित विश्व भारती यूनिवर्सिटी के छात्रों पर हमला किया. गुस्साए छात्र यूनिवर्सिटी के मेन गेट पर प्रदर्शन कर रहे हैं और मांग कर रहे हैं कि इन गुंडों के ख़िलाफ़ तुरंत कार्रवाई हो. सीपीआई (एम) इस हमले की निंदा करता है."

लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस की सात कोच पटरी से उतरे

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार ओडिशा में कटक के पास मुंबई-भुवनेश्वर लोकमान्य तिलक टर्मिनस एक्सप्रेस ट्रेन ने एक मालगाड़ी को टक्कर मार दी. घटना गुरुवार सुबह सात बजे की है.

इमेज कॉपीरइट ANI

एजेंसी के अनुसार टक्कर के बाद आठ कोच पटरी से उतरे.

रेलवे अधिकारियों के इस ट्रेन दुर्घटना में किसी की मौत नहीं हुई है लेकिन 20 लोगों के घायल होने की ख़बर है.

गंभीर रूप से घायल लोगों को कटक मेडिकल कॉलेज में दाख़िल कराया गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार