इंग्लैंड के कोर्ट ने भारत से माल्या के लिए जेल का वीडियो मांगा

इस पोस्ट को शेयर करें Email इस पोस्ट को शेयर करें Facebook इस पोस्ट को शेयर करें Twitter इस पोस्ट को शेयर करें Whatsapp

Image copyright Getty Images

शराब कारोबारी विजय माल्या के भारत प्रत्यर्पण पर इंग्लैंड की एक अदालत में 12 सितंबर तक सुनवाई स्थगित कर दी गई है.

लंदन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने माल्या को जमानत दे दी है.

अदालत में मुख्य मजिस्ट्रेट ने भारत के उस जेल का वीडियो मांगा है जिसमें माल्या को मुकदमे की सुनवाई के दौरान रखा जाएगा.

इस वीडियो के माध्यम से उस जेल में बुनियादी सुविधाओं का मूल्यांकन किया जाएगा. चीफ़ मजिस्ट्रेट एमा अर्बथना ने कहा कि वो वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट्स में गुरुवार को सुनवाई नहीं करेंगी.

विजय माल्या ने भारतीय बैंकों से हज़ारों करोड़ रुपये का कर्ज़ लिया है. उन पर भारत में धोखाधड़ी और मनी लॉन्डरिंग के आरोप हैं. हालांकि विजय माल्या किसी भी तरह की धोखाधड़ी से इनकार कर रहे हैं.

वित्तीय अनियमितता को लेकर भारत सरकार विजय माल्या का प्रत्यर्पण कराना चाहती है. विजया माल्या की एयरलाइंस किंगफिशर भी दिवालिया हो गई है.

किंगफिशर के कर्मचारियों के पैसे अब भी बाक़ी हैं.

भारत में विजय माल्या अपनी खर्चीली जीवनशैली के लिए जाने जाते थे. विजय माल्या ने बीयर से अपना कारोबार शुरू किया था और बाद में वो एयरलाइंस और फॉर्मूला वन जैसे कारोबार में उतरे.

माल्या की ब्रिटेन स्थित संपत्ति की तलाशी को हरी झंडी

क्यों मुश्किल है माल्या को भारत लाना?

Image copyright Getty Images

माल्या फोर्स इंडिया फॉर्मूला वन टीम में भी साझेदार हैं. किंगफिशर एयरलाइंस 2012 में शुरू हुई थी. एक वक़्त वो भी आया जब माल्या से एयरलाइंस लाइसेंस छीन लिया गया और भारी क़र्ज़ के कारण किंगफ़िशर बंद हो गई.

62 साल के माल्या मार्च 2016 में ब्रिटेन पहुंचे थे. भारत ने माल्या का पासपोर्ट रद्द कर दिया है. भारत में उनके ख़िलाफ़ एजेंसियां जांच भी कर रही हैं.

इस बीच, विजय माल्या ने लंदन में पत्रकारों से कहा है कि वो कर्नाटक की अदालत में सेटलमेंट की पेशकश कर चुके हैं. माल्या ने कहा, ''मैंने कोर्ट से आग्रह किया था कि वो अपनी निगरानी में मेरी संपत्तियों को बेच बैंकों के क़र्ज़ चुकवा दे. मनी लॉन्डरिंग और पैसे चुराने की बात बिल्कुल ग़लत है. मैंने कोर्ट में सब कुछ सौंप दिया है और उम्मीद है कि आने वाले वक़्त में चीज़ें साफ़ हो जाएंगी.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक , ट्विटर , इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)