यौन शौषण के मामले में 50 साल की सजा से बचाया एक कुतिया ने

इस पोस्ट को शेयर करें Email इस पोस्ट को शेयर करें Facebook इस पोस्ट को शेयर करें Twitter इस पोस्ट को शेयर करें Whatsapp

Image copyright Jenny Coleman/Oregon Innocence Project

अमरीका के ओरेगन में साल 2017 में जोशुआ हॉर्नर को अदालत ने बाल यौन शोषण के मामले दोषी करार दिया था.

लेकिन अचानक इस मामले में एक कुतिया की वजह से एक नया मोड़ आ गया और हॉर्नर 50 साल की सजा से बरी हो गए.

यह सबकुछ हुआ एक लैब्राडोर कुतिया 'लूसी' की वजह से.

42 साल के हॉर्नर पर आरोप था कि उन्होंने एक बच्ची का यौन शोषण किया, 'लूसी' पर गोली चलाई ताकि पुलिस के सामने उसका भेद न खुल सके.

लेकिन बाद में लूसी अपने नए मालिक के साथ पाई गई और हॉर्नर भी सजा से बच गए.

Image copyright Jenny Coleman/Oregon Innocence Project

' लूसी ' जीवित मिली

मूल केस की सुनवाई के दौरान भी कोर्ट ने सर्वसम्मत फ़ैसला नहीं दिया था. गैर-लाभकारी क़ानूनी संस्थान ओरेगन इनोसेंस प्रोजेक्ट हॉर्नर के केस की समीक्षा कर रही थी, जिसमें कई ख़ामियां पाई गई थीं.

अप्रैल में संस्थान ने स्थानीय सरकारी वकील जॉन हमल से केस पर कुछ आपत्ति जताई थी, जिसके बाद वो संस्थान के साथ मिलकर काम करने को राजी हुए थे.

सवाल ये भी था कि लूसी आखिर कहां गई थी. हॉर्नर का कहना था कि लूसी ज़िंदा है और उन्होंने उसे मारने की कोशिश नहीं की थी.

Image caption कभी आपने कभी नीला कुत्ता देखा है?

हॉर्नर के इस दावे के बाद संस्थान और सरकारी वकील के कार्यालय के अधिकारियों ने लूसी को ढूंढने की काफी कोशिश की.

अंत में टीम ने ओरेगन कोस्ट में लूसी और उसके मालिक को ढूंढ निकाला.

संस्थान के अधिकारी लिसा क्रिस्टन का कहना है कि लूसी की पहचान उसकी दिखावट और कुछ अन्य सबूतों के आधार पर की गई थी.

लूसी के मिलने के बाद यह साबित हो गया कि बच्ची ने ग़लत बयान दिया था.

हॉर्नर को इसके बाद रिहा कर दिया गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक , ट्विटर , इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)