निजी एयरलाइनों ने हड़ताल वापस ली

विमान
Image caption सरकार ने हड़ताल पर सख़्त रुख़ अपनाया था.

भारत में निजी विमान कंपनियों ने 18 अगस्त को प्रस्तावित अपनी हड़ताल टाल दी है. वे सरकार से बातचीत करने के लिए तैयार हैं.

निजी एयरलाइनों ने हवाई इंधन और हवाई अड्डों के इस्तेमाल पर शुल्क घटाने की माँग करते हुए 18 अगस्त के दिन विमान सेवा बंद रखने की घोषणा की थी.

लेकिन निजी एयरलाइनों की एकजुटता में दरार पड़ गई थी. शनिवार को इंडिगो ने हड़ताल में शामिल नहीं होने की घोषणा की थी और रविवार को स्पाइसजेट ने भी विमान सेवाएँ जारी रखने की घोषणा कर दी.

जिसके बाद 'फेडरेशन ऑफ इंडियन एयरलाइंस' ने हड़ताल टालने की घोषणा की.

फेडरेशन के महासचिव अनिल बैजल ने कहा कि सरकार भी बातचीत के लिए राजी है और उम्मीद है कि इससे समस्या का समाधान हो जाएगा.

निजी एयरलाइनों से हर दिन लगभग एक लाख लोग यात्रा करते हैं और घरेलू एयर ट्रैफिक के अस्सी फ़ीसदी हिस्से पर इनका क़ब्ज़ा है.

हालांकि सरकार ने शनिवार को ही स्पष्ट कर दिया था कि निजी एयरलाइनों के घाटे को पाटना उसकी ज़िम्मेदारी नहीं है और इन कंपनियों को कोई आर्थिक पैकेज नहीं मिलेगा.

केंद्रीय नागर विमानन मंत्री प्रफ़ुल्ल पटेल ने हड़ताल करने पर उचित कार्रवाई करने की चेतावनी दी थी.

संबंधित समाचार