रॉबिनहुड बैंकर को मिली सज़ा

जर्मनी की एक बैंक कर्मचारी को 22 महीने की लंबित जेल की सज़ा मिली है. उनका जुर्म ये था कि उन्होंने गुप्त रूप से अमीर खातेधारों के खातों से पैसे निकालकर ग़रीब लोगों के खातों में डाल दिए.

रॉबिन हुड बैंकर नाम से मशहूर इस 62 वर्षीय महिला ने करीब एक करोड़ दस लाख डॉलर का हस्तांतरण किया. बॉन में कोर्ट को बताया गया कि उन्होंने अपने लिए पैसे नहीं निकाले. कर्मचारी का नाम नहीं बताया गया है.

इस पूरे घटनाक्रम के कारण बैंक को 15 लाख डॉलर का नुकसान हुआ क्योंकि ग़रीब उपभोक्ता अनाधिकृत ओवरड्राफ़्ट का भुगतान नहीं कर पाए.

अपने लिए कुछ नहीं

महिला कर्मचारी पर आरोप है कि उन्होंने ऐसे उपभोक्ताओं को ओवरड्राफ़्ट दिए जिन्हें नहीं दिए जाने चाहिए थे.

जब बैंक का ऑडिट हुआ तो इस कर्मचारी ने अमीर लोगों के पैसा का इस्तेमाल ऋणों को छुपाने के लिए किया.

सेवानिवृत्ति की पेंशन के ज़रिए महिला कर्मचारी ने बैंक को हुए नुकसान की भरपाई करनी शुरु कर दी है.

उन्हें चार साल की जेल की सज़ा हो सकती थी लेकिन कोर्ट ने उनके साथ नरमी बरती है क्योंकि महिला कर्मचारी ने अपने लाभ के लिए कुछ नहीं किया और अपनी ग़लती बता दी.

कोर्ट को ये भी लगा कि महिला की नौकरी चली गई है और वो बैंक को भुगतान भी कर रही हैं जिससे लगता है कि उन्हें पहले से ही काफ़ी सज़ा मिल रही है.

संबंधित समाचार