दुबई के बैंकों को अतिरिक्त धनराशि

दुबई
Image caption दुबई वर्ल्ड के कारण शेयर बाज़ारों पर असर पड़ा है

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के सेंट्रल बैंक ने कहा है कि वह बैंकों को अतिरिक्त धनराशि देने के लिए तैयार है.

सेंट्रल बैंक का यह फ़ैसला ऐसे समय आया है जब सरकारी कंपनी दुबई वर्ल्ड कर्ज़ चुकाने को लेकर संकट में हैं.

कुछ दिन दुनिया की बड़ी निवेश कंपनियों में से एक दुबई वर्ल्ड ने कर्ज़ अदायगी के लिए समय मांगा है. दुबई वर्ल्ड के इस बयान के बाद दुनियाभर के शेयर बाज़ार लड़खड़ा गए थे.

यूएई सेंट्रल बैंक का ताज़ा फ़ैसला सभी बैंकों पर लागू होगा. इसके अलावा यूएई में काम कर रहे विदेशी बैंकों को अतिरिक्त धनराशि मिलेगी.

सोमवार को बाज़ार खुलने से पहले दुबई सरकार एक बयान जारी करने वाली है ताकि निवेशकों को भरोसा दिलाया जा सके.

सहायता

इस बीच पड़ोसी आबूधाबी सरकार ने कहा है कि वह दुबई सरकार की प्रतिबद्धता और अलग-अलग मामलों के आधार पर यह तय करेगी कि दुबई की कैसे सहायता की जाए.

एक सरकारी प्रवक्ता ने यह भी स्पष्ट किया कि इसका मतलब ये नहीं है कि आबूधाबी उनके सारे कर्ज़ों की ज़िम्मेदारी ख़ुद ले लेगा.

यूएई सेंट्रल बैंक की घोषणा ऐसे समय आई है जब ईद की छुट्टियों के बाद मध्य पूर्व के बाज़ार खुलने वाले हैं.

सेंट्रल बैंक ने अपनी घोषणा में कहा है- बैंक ने यूएई के सभी बैंकों और यहाँ काम कर रही विदेशी बैंकों की शाखाओं को यह नोटिस जारी किया है कि उनके लिए विशेष अतिरिक्त धनराशि उपलब्ध रहेगी जो सेंट्रल बैंक में उनके चालू खाते से जुड़ी रहेगी.

सेंट्रल बैंक ने यह भी कहा है कि यूएई की बैंकिंग व्यवस्था एक साल पहले के मुक़ाबले बेहतर है और उसके पास पैसा भी है.

दुबई में कर्ज़ की समस्या के कारण बैंकों को भारी नुक़सान हुआ है और चिंता ये जताई जा रही है कि मौजूदा माहौल में कहीं निवेशक अपना पैसा निकालने में न जुट जाएँ.

प्राइम एमिरेट्स ब्रोकरेज के शौक़त रासलान का कहना है कि सेंट्रल बैंक की इस घोषणा से बाज़ार को थोड़ा बहुत सहयोग तो मिलेगा लेकिन वे नहीं मानते कि मौजूदा स्थिति में यह घोषणा पर्याप्त हैं.

शौक़त के मुताबिक़ उन्हें लगता है कि विदेशी यहाँ से अपना पैसा निकालेंगे और बाक़ी लोग बाज़ार में पैसा लगाने से डरेंगे.

संबंधित समाचार